ADVERTISEMENT

Independence Day Speech: स्वतंत्रता दिवस के लिए इस फॉर्मेट में तैयार करें स्पीच

Independence Day: इस साल 15 अगस्त को भारत अपना 76वां स्वतंत्रता दिवस मनाने की तैयारी जोरों शोरों से जुटा हुआ है.

Updated
Independence Day Speech: स्वतंत्रता दिवस के लिए इस फॉर्मेट में तैयार करें स्पीच
i

Independence Day Speech: भारत की आजादी के 75 साल पूरे होने पर इस साल देश में आजादी का अमृत महोत्सव मनाया जा रहा हैं. 15 अगस्त 1947 को हमारा देश ब्रिटिश शासन से आजाद हुआ था. इस साल 15 अगस्त को भारत अपना 76वां स्वतंत्रता दिवस मनाने की तैयारी जोरों शोरों से जुटा हुआ है, इस कढ़ी में भारत सरकार द्वारा हर घर तिरंगा अभियान भी चलाया जा रहा है.

ADVERTISEMENT

स्वतंत्रता दिवस के दिन स्कूल, कॉलेजों में स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा. इस दौरान छात्रों द्वारा स्पीच व नाटक किये जाते है. अगर आप भी 15 अगस्त के कोई स्पीच तैयार कर रहें हैं तो हम आपके लिए निबंध व स्‍पीच तैयार करने के कुछ टिप्स लेकर आए हैं. सबसे पहले भाषण व स्पीच तैयार करने के लिए विषय का चुनाव करें, जैसे- गणतंत्र दिवस का इतिहास और महत्व, भारत का संविधान, तिरंगे का इतिहास फिर आगे की रूप रेखा इस प्रकार तैयार करें.

ADVERTISEMENT

स्पीच के दौरान इन बातों का रखें ध्यान

  • प्रेजेंटेशन अच्छा होना चाहिए.

  • ड्रेसिंग कोट अच्छा होना चाहिए.

  • स्पीच के दौरान आई कांटेक्ट का ध्यान रखें.

  • स्पीच के दौरान वॉइस क्वॉलिटी का ख्याल रखें.

  • चेहरें पर स्माइल रखें.

  • आत्मविश्वास स्पीच के अंत तक बनाए रखें.

ADVERTISEMENT

Independence Day स्पीच तैयार करने के तरीके

  • भाषण की शुरुआत में सबसे पहले नमस्‍कार, कर कार्यक्रम में मौजूद सभी अतिथियों का धन्यवाद करें.

  • फिर बोलना शुरू करें, हम सभी आज अपने देश का 76वां स्वतंत्रता दिवस मना रहें हैं.

  • मैं स्वतंत्रता दिवस पर भाषण देने के लिए सम्मानित महसूस कर रहा हूं.

  • स्वतंत्रता दिवस हर साल 15 अगस्त को हमारे देश में बहुत खुशी और गर्व के साथ मनाया जाता है.

  • आज ही के दिन 15 अगस्त 1947 में हमारा देश आजाद हुआ था.

  • हम सभी जानते हैं कि भारत को स्वतंत्रता 15 अगस्त 1947 को मिली थी और 26 जनवरी 1950 को हमारे देश का संविधान लागू हुआ था.

  • इस स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर मैं सभी स्वतंत्रता सेनानियों को नमन करता हूं जिन्होंने भारत को आजाद कराने का सपना देखा. खुद के प्राण उन्होंने न्यौछावर कर दिए ताकि हम एक स्वतंत्रत भारत में सांस ले सकें.

  • मैं अपना भाषण यह कहकर समाप्त करना चाहूंगा कि एक सच्चे राष्ट्रभक्त की तरह देश को एक बेहतर जगह बनाने में योगदान देते रहना हैं. धन्यवाद! जय हिंद.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
Published: 
और देखें
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
और खबरें
×
×