COVID-19 की आपदा में संजरपुर लोगों को बांट रहा है मास्क और राशन

COVID-19: संजरपुर गांव बना रहा लोगों के लिए मास्क, 3000 से ज्यादा मास्क बांटे

Published01 Apr 2020, 04:06 PM IST
My रिपोर्ट
2 min read

वीडियो एडिटर: कुनाल मेहरा

वीडियो प्रोड्यूसर: वत्सला सिंह

देश में कोरोनावायरस आउटब्रेक की वजह से खबरें सामने आई कि मास्क की कमी होने लगी है. इतना ही नहीं ये भी सामने आया कि मास्क की कमी के चलते कई दुकानदार इसका फायदा उठाकर इसे महंगा बेच रहे हैं. एक मास्क की कीमत को 150 से 200 रुपये तक बढ़ा कर बेचा जा रहा है.

हममें से कुछ -तबरेज भाई, इरशाद भाई और मसुद्दीन भाई ने मिलकर अपने आस-पास की जगहों पर मास्क बांटे फिर हम और भी गांवों में गए, वहां हमने मास्क मुफ्त में बांटे. ये एक छोटी सी कोशिश थी कि हम अपने लोगों का ध्यान रख सकें और गांव को इस वैश्विक महामारी से बचाने में उनकी मदद करें.

हम सिर्फ मास्क ही नहीं बांट रहे हैं. अब हम उन्हें हाथ धोने के लिए, एंटी-सेप्टिक सोल्यूशन दे रहे हैं और उन्हें बता रहे हैं कि उसे कैसे इस्तेमाल करना है, ताकि वो मास्क को समय-समय पर धो लें. हमने 12 गांव में 3000 के करीब मास्क बांटे हैं.

हमने इसके साथ ही कई जरूरतमंदों को राशन भी बांटने का काम किया है जो इस COVID-19 की वजह से परेशानी में हैं. हम उन्हें चने दे रहे हैं ताकि अगर उनके पास कुछ भी नहीं हुआ तो वो चने को भीगा कर उसे खा सकते हैं, उसके लिए मसाले की भी जरूरत नहीं है, ये कुछ चीजें हैं जो हम कर पा रहे हैं.

हम उत्तरप्रदेश के संजरपुर गांव में हैं जो कोरोनावायरस की इस महामारी से लड़ने में हर संभव कोशिश कर रहा है. हम सभी लोग मिलकर काम कर रहे हैं और जिससे जितना बन पड़ता है वो उतना काम कर रहा है.

(सभी 'माई रिपोर्ट' ब्रांडेड स्टोरिज सिटिजन रिपोर्टर द्वारा की जाती है जिसे क्विंट प्रस्तुत करता है. हालांकि, क्विंट प्रकाशन से पहले सभी पक्षों के दावों / आरोपों की जांच करता है. रिपोर्ट और ऊपर व्यक्त विचार सिटिजन रिपोर्टर के निजी विचार हैं. इसमें क्‍व‍िंट की सहमति होना जरूरी नहीं है.)

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!