कभी खुद थी शराब की लत, आज जागरूकता बढ़ा रहा ग्रुप

मुंबई की गलियों में जागरूकता बढ़ाने के लिए ड्रामा का सहारा ले रहा ये स्ट्रीट थिएटर

Updated

वीडियो एडिटर: मोहम्मद इरशाद आलम

वीडियो प्रोड्यूसर: आस्था गुलाटी

कोरोना वायरस, कैंसर, स्वच्छ भारत (Coronavirus, Cancer Swachch Bharat)- हमारे थिएटर ग्रुप ने मुंबई (Mumbai) की गली-गली में जाकर सामाजिक मुद्दों पर नुक्कड़ नाटक किए हैं, मैं निजामुद्दीन शाह, नेटफ्लिक्स के ओरिजिनल शो ये बेले का एक्टर हूं. मैं करीब 5 साल से नुक्कड़ नाटक को डायरेक्ट कर रहा हूं. इससे हम काफी युवाओं के साथ जुड़े हैं और उनके टैलेंट को इन नुक्कड़ नाटक से काफी मदद मिल रही है. उनका हुनर और निखर रहा है.

काफी समय से नुक्कड़ नाटक जगरूकता फैलाने के लिए किए जाते रहे हैं, लेकिन कुछ लोगों को लगता है कि ये अब भी एक आर्ट नहीं है. और इसमें वहीं रहते हुए सब कुछ करना पड़ता है तो इसके परफॉर्मेंस में ज्यादा मेहनत नहीं लगती.

हमारे ग्रुप को अलग बनाती है हमारी कम्पोजीशन, हम सभी आर्टिस्ट कम आय वाले परिवार से आते हैं, इसकी मदद से कुछ आर्टिस्ट्स को हमने शराब और ड्रग की लत से बाहर निकाला है.

एक नुक्कड़ नाटक में करीब 10 लोग हैं जिसमें 17 से 26 साल के लोग शामिल हैं, इन आर्टिस्ट्स में से कई लोग ऐसे हैं जो मुंबई की छोटी झोपड़ियों में रहते हैं, माता-पिता के इनकार के बाद भी नुक्कड़ उनके लिए एक सुरक्षित जगह बन गया है, जहां वो अपने आपको आगे बढ़ाने के लिए फोकास कर सकते हैं.

इन सब का मकसद एक ही है कि जो युवा ड्रग या शराब के गलत रस्ते पर निकल गए हैं उन्हें वहां से बाहर निकालना है, जैसे कि हमारा एक प्ले है जिसमें हम उन्हें संदेश देते हैं जो सिगरेट और गांजे का सेवन करते हैं

(सभी 'माई रिपोर्ट' ब्रांडेड स्टोरिज सिटिजन रिपोर्टर द्वारा की जाती है जिसे क्विंट प्रस्तुत करता है. हालांकि, क्विंट प्रकाशन से पहले सभी पक्षों के दावों / आरोपों की जांच करता है. रिपोर्ट और ऊपर व्यक्त विचार सिटिजन रिपोर्टर के निजी विचार हैं. इसमें क्‍व‍िंट की सहमति होना जरूरी नहीं है.)

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!