ADVERTISEMENT

असम में बाढ़ का कहर, केरल-बेंगलुरु में ऑरेंज अलर्ट, उत्तर भारत गर्मी से बेहाल

बेंगलुरु में शहर में हुई भारी बारिश ने जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है

Updated
भारत
2 min read
असम में बाढ़ का कहर, केरल-बेंगलुरु में ऑरेंज अलर्ट, उत्तर भारत गर्मी से बेहाल
i

रोज का डोज

निडर, सच्ची, और असरदार खबरों के लिए

By subscribing you agree to our Privacy Policy

देश के कई राज्य एक तरफ भीषण गर्मी और हीटवेव (Heat Wave) की चपेट में हैं, तो दूसरी तरफ कई राज्यों में बारिश कहर बनकर टूटा है. असम-अरुणाचल प्रदेश में भारी बारिश से बाढ़ (Flood) जैसे हालात हैं. वहीं, भारी बारिश से बेंगलुरु पानी-पानी हो गया है. मौसम विभाग ने केरल के सात जिलों में ऑरेंज अलर्ट (Orange Alert) जारी किया है.

ADVERTISEMENT

बारिश से बेंगलुरु पानी-पानी

बेंगलुरू (Bengaluru) में मंगलवार को कुछ घंटों की बारिश ने लोगों की मुसीबत बढ़ा दी है. बारिश से शहर के कई इलाकों में जलभराव से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. रिहाइशी इलाकों में पानी भर गया है. सड़कों पर खड़ी गाड़ियां पानी में डूब गई.

बेंगलुरु में मूसलाधार बारिश, बाढ़, ट्रैफिक जाम और जनजीवन प्रभावित हो गया है, वीडियो देखें-

बारिश बुधवार, 18 मई को भी जारी रहने की उम्मीद है. IMD के पूर्वानुमान में कहा गया है कि बुधवार को हल्की से मध्यम बारिश के साथ गरज और बिजली गिरने की संभावना है. बारिश की संभावना को देखते हुए बेंगलुरु में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है. जिसमें शहर में अगले 4-5 दिनों तक भारी बारिश की आशंका जताई गई है.

केरल के 4 जिलों में ऑरेंज अलर्ट

मौसम विभाग ने केरल में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है. मलप्पुरम, कोझीकोड, कन्नूर और कासरगोड जिलों में ऑरेंज अलर्ट जारी किया है. अन्य सभी जिलों में येलो अलर्ट जारी किया है. इसके साथ ही मछुआरों को समुद्र में नहीं जाने के लिए कहा गया है. इसके अलावा कई इलाकों में बाढ़ का अलर्ट भी जारी किया गया है.

कोट्टायम में भारी बारिश ने जनजीवन अस्त-व्यस्त कर दिया, नदियां उफान पर आ गईं, बिजली की लाइनें क्षतिग्रस्त हो गईं और फसलें नष्ट हो गईं.

असम में करीब 2 लाख लोग प्रभावित

असम में लगातार हो रही बारिश से बाढ़ और भूस्खलन की स्थिति पैदा हो गई है. असम के 20 जिलों में लगभग 2 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हुए हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पहाड़ी क्षेत्रों में भूस्खलन की वजह से रेल और सड़क लिंक टूट गया है. वहीं बाढ़ और भूस्खलन में कम से कम 7 लोगों की मौत हुई है.

जानकारी के मुताबिक अब तक 652 गांव बाढ़ से प्रभावित हुए हैं. बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों से निकाले जा रहे लोगों के लिए सात जिलों में 55 राहत शिविर बनाए गए हैं. NDTV की रिपोर्ट के मुताबिक अभी तक कुल 32,959 लोगों को आश्रय दिया गया है. वहीं प्रभावित क्षेत्रों में 12 राहत वितरण केंद्र भी बनाए गए हैं.

बारिश और बाढ़ की वजह से असम हायर सेकेंडरी एजुकेशन काउंसिल ने फर्स्ट ईयर की परीक्षा स्थगित कर दी है. AHSCE ने कहा कि 1 जून को पूरी होने वाली परीक्षाओं को 'मौजूदा खराब मौसम' और राज्य में प्राकृतिक आपदाओं से होने वाले नुकसान को देखते हुए" स्थगित कर दिया गया है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
Published: 
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
500
1800
5000

or more

प्रीमियम

3 माह
12 माह
12 माह
मेंबर बनने के फायदे
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
और खबरें
×
×