वैक्सीन की कमी के लिए मैं नहीं, सरकारी नीति है जिम्मेदार-पूनावाला 

कई राज्य कह चुके हैं कि उनके पास 18-44 आयु वर्ग के लिए अभी वैक्सीन नहीं है

Updated
भारत
2 min read
SII के सीईओ अदार पूनावाला
i

देश में बढ़ते कोविड संकट के बीच राज्यों में वैक्सीन की कमी हो रही है. 1 मई से 18 से ज्यादा उम्र के सभी लोगों के लिए वैक्सीनेशन खुला लेकिन सिर्फ 16 लाख डोज ही दी गईं. कई राज्य पहले ही कह चुके थे कि उनके पास 18-44 आयु वर्ग के लिए अभी वैक्सीन नहीं है. वहीं, सीरम इंस्टीट्यूट (SII) के सीईओ अदार पूनावाला का कहना है कि वैक्सीन की कमी जुलाई तक चल सकती है.

फाइनेंशियल टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, पूनावाला ने कहा है कि वैक्सीन प्रोडक्शन जुलाई में बढ़ने की उम्मीद है. पूनावाला का कहना है कि प्रोडक्शन एक महीने में 6-7 करोड़ डोज की जगह करीब 10 करोड़ डोज होने की संभावना है.

नेताओं ने SII को बदनाम किया

अदार पूनावाला ने फाइनेंशियल टाइम्स से बातचीत में अपनी कंपनी का बचाव किया. पूनावाला ने कहा कि वैक्सीन की कमी को लेकर राजनेताओं और आलोचकों ने सीरम इंस्टीट्यूट को बदनाम किया है, यह बताते हुए कि कंपनी नहीं, बल्कि सरकार नीति के लिए जिम्मेदार है.

“मुझे बहुत सताया गया है. हमने पहले क्षमता इसलिए नहीं बढ़ाई क्योंकि इसके लिए कोई आदेश ही नहीं था. हमें नहीं लगा था कि हमें एक साल में 100 करोड़ से ज्यादा डोज चाहिए होगी.” 
अदार पूनावाला

कोरोना की दूसरी लहर पर क्या बोले पूनावाला?

देश इस समय कोरोना की दूसरी लहर से जूझ रहा है. संक्रमण के मामले रोजाना बढ़ रहे हैं. मौतों की तादाद भी बढ़ती जा रही है. अस्पतालों में बेड और ऑक्सीजन की कमी जारी है. केंद्र सरकार की आलोचना हो रही है कि वो इसके लिए तैयार नहीं थी.

फाइनेंशियल टाइम्स के मुताबिक, अदार पूनावाला का कहना है कि जब जनवरी में नए संक्रमण के मामले कम हो गए थे तो अथॉरिटीज को दूसरी लहर की आशंका नहीं थी. पूनावाला ने कहा, "सभी को यही लगा था कि भारत अब महामारी से निकल जाएगा."

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!