ADVERTISEMENTREMOVE AD

दिशा रवि, निकिता जैकब और शांतनु ने बनाया टूलकिट- दिल्ली पुलिस

दिशा रवि की गिरफ्तारी को लेकर विरोध के बाद दिल्ली पुलिस ने की प्रेस कॉन्फ्रेंस

Updated
भारत
2 min read
story-hero-img
छोटा
मध्यम
बड़ा

किसान आंदोलन को लेकर अब टूलकिट मामले में रोजाना नए खुलासे हो रहे हैं. इस मामले को लेकर राजनीतिक बवाल भी शुरू हो चुका है. जिसे देखते हुए अब दिल्ली पुलिस की तरफ से प्रेस कॉन्फ्रेंस हुई है. जिसमें पुलिस ने बताया है कि तीन लोगों ने मिलकर इस टूलकिट को तैयार किया और दुनियाभर में फैलाने का काम किया. दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार हुईं क्लाइमेट एक्टिविस्ट दिशा रवि, निकिता जैकब और शांतनु का नाम लिया. साथ ही पुलिस ने बताया कि इस टूलकिट को खालिस्तानी समर्थकों की मदद से तैयार किया गया.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

खालिस्तानी समर्थक संगठन ने तैयार किया टूलकिट

दिल्ली पुलिस ने कहा कि, 26 जनवरी की घटना के बाद बड़ी संख्या में गलत जानकारी फैलानी की कोशिश हुई. इसके बाद सोशल मीडिया की जांच के दौरान हमें 4 फरवरी को हमें एक टूलकिट मिला. ट्विटर पर मिले इस टूलकिट डॉक्यूमेंट की जांच करने के बाद पता लगा कि इसे एक खालिस्तानी समर्थक संगठन पोएटिक जस्टिस फाउंडेशन ने तैयार किया है. इसके साथ जो लोग जुड़े हुए थे, उनकी मदद से ये तैयार किया गया था. इसमें 26 जनवरी को होने वाले ट्रैक्टर मार्च के लिए हैशटैग और बाकी चीजों को लेकर बताया गया था.

निकिता जैकब से मिली अहम जानकारी

दिल्ली पुलिस की तरफ से बताया गया कि, इस मामले को लेकर जब जांच की गई तो सोशल मीडिया पर टूलकिट डॉक्यूमेंट के कई स्क्रीनशॉट मिले. इसके बाद कोर्ट से सर्च वारंट लिया गया और इसके बाद 9 फरवरी को निकिता जैकब के खिलाफ मामला दर्ज किया गया. जो इस टूलकिट को तैयार करने वाली टीम में से एक है. इसके बाद उनके घर पर छापेमारी हुई. घर से दो लैपटॉप और एक आईफोन सीज किया गया.

निकिता जैकब से पूछताछ के दौरान पता चला कि उसने दिशा और शांतनू के साथ मिलकर टूलकिट डॉक्यूमेंट तैयार किया था. पुलिस ने आगे बताया,

“सबसे पहले पुनीत नाम की एक महिला, जो कनाडा में रहती है, उसने खालिस्तानी समर्थक संगठन से संपर्क किया. इसके बाद टूलकिट डॉक्यूमेंट को लेकर बातचीत हुई. इस टूलकिट का नाम ग्लोबल फार्मर स्ट्राइक रखा गया. इसके बाद 11 जनवरी को निकिता और शांतनु ने पोएटिक जस्टिस फाउंडेशन की एक जूम मीटिंग में हिस्सा लिया. इस जूम मीटिंग में ही आगे की प्लानिंग तय हुई और टूलकिट को तैयार करने पर बातचीत हुई.”

दिल्ली पुलिस ने बताया कि निकिता से मिली जानकारी के बाद हम शांतनु की तलाश कर रहे हैं. इसके अलावा निकिता भी अगले दिन पुलिस को घर पर नहीं मिली. जबकि उसने पुलिस को लिखित रूप में दिया था कि वो जांच में सहयोग करेगी. जिसके बाद उसकी भी तलाश जारी है.

दिशा ने ग्रेटा के साथ शेयर किया टूलकिट

दिल्ली पुलिस ने दिशा रवि को लेकर बताया कि, उसके फोन से हमें कई अहम जानकारी मिली. इस जानकारी से साफ हो गया कि दिशा ने अपने साथियों- शांतनु और निकिता के साथ मिलकर टूलकिट बनाया और बाकी लोगों के साथ शेयर किया. इसके अलावा दिशा ने टेलीग्राम के जरिए ग्रेटा थनबर्ग के साथ भी इसे शेयर किया.

पुलिस ने बताया कि, इन तमाम तथ्यों के बाद दिशा को उनकी मां और स्थानीय एसएचओ की मौजूदगी में गिरफ्तार किया गया.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×