हाथरस केस: नार्को टेस्ट के लिए आरोपियों को लेकर गुजरात पहुंची CBI

हाथरस केस के चारों आरोपियों का ब्रेन मैपिंग टेस्ट कराया जा रहा है

Published
भारत
1 min read
हाथरस केस को लेकर आखिर क्यों हुआ बवाल, पुलिस और सरकार पर उठ रहे सवाल
i

यूपी के हाथरस में 20 साल की लड़की के साथ हुई हैवानियत के आरोपियों का अब पॉलीग्राफ टेस्ट होगा. इसके लिए चारों आरोपियों को लेकर सीबीआई गुजरात के गांधीनगर पहुंची है. जहां चारों का ब्रेन मैपिंग टेस्ट, नार्को और पॉलीग्राफ टेस्ट किया जाएगा.

बता दें कि इस पूरे मामले की जांच यूपी सरकार ने सीबीआई को सौंपी है. जिसके बाद अब सीबीआई आरोपियों से लगातार पूछताछ कर रही है और इसी क्रम में अब उनका पॉलीग्राफ और ब्रेन मैपिंग टेस्ट किया जा रहा है.

बताया जा रहा है कि सीबीआई ने गोपनीय तरीके से चारों आरोपियों को जेल से बाहर निकाला और ट्रेन के जरिए गुजरात ले गए. इस मामले की जानकारी सिर्फ जेल अधिकारियों और सीबीआई अधिकारियों को ही थी.

क्या है पूरा मामला

हाथरस में 20 साल की लड़की के साथ कुछ युवकों ने दुष्कर्म किया था और उसके साथ जमकर मारपीट भी हुई थी. जिसके बाद लड़की ने करीब 14 दिन बाद आखिरकार दिल्ली के सफदरजंग हॉस्पिटल में दम तोड़ दिया था. इस मामले को लेकर यूपी पुलिस और प्रशासन पर भी गंभीर सवाल खड़े हुए थे और कई पुलिसकर्मियों को सस्पेंड भी किया गया था. हालांकि यूपी पुलिस ने दावा किया कि लड़की के साथ दुष्कर्म नहीं हुआ था, क्योंकि उसके शरीर में स्पर्म नहीं पाया गया. लेकिन लड़की का मेडिकल टेस्ट ही काफी दिनों बाद किया गया. जिससे यूपी पुलिस के इस दावे पर भी सवाल खड़े हुए थे. इस मामले को लेकर जमकर राजनीति भी हुई थी. फिलहाल मामले की जांच जारी है.

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!