ADVERTISEMENT

इतिहासकार इरफान हबीब ने संघ की तुलना इस्लामिक स्टेट से की

आरएसएस और आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट की तुलना करने पर इतिहासकार इरफान हबीब की कड़ी निंदा हो रही है.

Updated
भारत
1 min read
इतिहासकार इरफान हबीब ने संघ की तुलना इस्लामिक स्टेट से की

देश में बढ़ रही है असहिष्णुता

देश भर में कथित रूप से बढ़ती असहिष्णुता, सांप्रदायिक हिंसा के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लेखकों और इतिहासकारों ने रविवार को एक प्रतिरोध मीटिंग की और सरकार के खिलाफ अपने विरोध प्रदर्शनों के पीछे कांग्रेस या वामपंथियों का हाथ होने से इंकार किया.

बुद्धिजीवियों के इस समूह ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा कि सत्तारूढ़ दल अपने समर्थकों की भीड़ को काबू नहीं कर पा रही है.

ADVERTISEMENT

बौद्धिक आधार पर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ और आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट में ज्यादा अंतर नहीं.

- इरफान हबीब, इतिहासकार

इन ट्वीट्स में देखिए इरफान हबीब ने और क्या कहा.

ADVERTISEMENT

सोशल मीडिया पर हो रही है भरसक निंदा


जाने-माने इतिहासकार इरफान हबीब के इस विवादास्पद बयान की सोशल मीडिया पर भरसक निंदा की जा रही है.

प्रसिद्ध पत्रकार शेखर गुप्ता ने अपने ट्वीट में कहा कि बेशक संघ की विचारधारा पर सवाल उठाए जा सकते हैं लेकिन संघ और इस्लामिक स्टेट की तुलना काफी हास्यास्पद है.

वरिष्ठ पत्रकार तवलीन सिंह लिखती हैं कि अगर इरफान हबीब को इस्लामिक स्टेट और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ में किसी प्रकार का अंतर नजर नहीं आता तो अब वो वक्त आ गया है जब उन्हें इतिहास लिखना छोड़ देना चाहिए.

ADVERTISEMENT

पाकिस्तान और अफगानिस्तान से जुड़े मामलों के विशेषज्ञ सुशांत सरीन कहते हैं कि अगर संघ और इस्लामिक स्टेट में ज्यादा अंतर नहीं होता तो आज इरफान हबीब ये बात कहने के लिए जीवित भी न होते.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
×
×