MP:किसान दंपत्ति पर पुलिस की बर्बरता,राहुल-मायावती का BJP से सवाल

बीसएपी चीफ मायावती ने भी गुना की इस घटना पर अपना रिएक्शन दिया है

Published16 Jul 2020, 06:42 AM IST
भारत
3 min read

मध्य प्रदेश के गुना जिले की पुलिस बर्बरता की दर्दनाक तस्वीरें 15 जुलाई से सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं. स्थानीय प्रशासन ने पुलिस की मदद से सरकारी जमीन पर खेती कर रहे किसान की फसल बर्बाद करने की कोशिश की तो दलित किसान दंपत्ति ने कीटनाशक खाकर आत्म हत्या करने की कोशिश की. मामले में अब बड़े राजनेताओं के बयान सामने आ रहे हैं.

पूर्व कांग्रेस प्रमुख राहुल गांधी ने गुरुवार को गुना जिले में मध्य प्रदेश पुलिस द्वारा एक दलित परिवार की पिटाई को लेकर बीजेपी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा-

हमारी लड़ाई इसी सोच और अन्याय के खिलाफ है
राहुल गांधी, कांग्रेस नेता

देश की बड़ी दलित नेता और बीसएपी चीफ मायावती ने भी गुना की इस घटना पर अपना रिएक्शन दिया है. उन्होंने ट्विटर पर लिखा-

मध्यप्रदेश के गुना पुलिस व प्रशासन द्वारा अतिक्रमण के नाम पर दलित परिवार को कर्ज लेकर तैयार की गई फसल को जेसीबी मशीन से बबार्द करके उस दम्पत्ति को आत्महत्या का प्रयास करने को मजबूर कर देना अति-क्रूर व अति-शर्मनाक. इस घटना की देशव्यापी निन्दा स्वाभाविक. सरकार सख्त कार्रवाई करे. एक तरफ बीजेपी व इनकी सरकार दलितों को बसाने का ढिंढोरा पीटती है जबकि दूसरी तरफ उनको उजाड़ने की घटनाएं उसी तरह से आम हैं जिस प्रकार से पहले कांग्रेस पार्टी के शासन में हुआ करती थी, तो फिर दोनों सरकारों में क्या अन्तर है? खासकर दलितों को इस बारे में भी जरूर सोचना चाहिए.
मायावती, बीएसपी चीफ

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भी इस घटना को लेकर सोशल मीडिया पर मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार को घेरा है. उन्होंने लिखा कि- 'ये शिवराज सरकार प्रदेश को कहाँ ले जा रही है ? ये कैसा जंगल राज है ? गुना में कैंट थाना क्षेत्र में एक दलित किसान दंपत्ति पर बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों द्वारा इस तरह बर्बरता पूर्ण लाठीचार्ज'

यदि पीड़ित युवक का जमीन सम्बंधी कोई शासकीय विवाद है तो भी उसे कानूनन हल किया जा सकता है लेकिन इस तरह कानून हाथ में लेकर उसकी,उसकी पत्नी की,परिजनों की व मासूम बच्चों तक की इतनी बेरहमी से पिटाई, यह कहां का न्याय है? क्या यह सब इसलिये कि वो एक दलित परिवार से है, गरीब किसान है?
कमलनाथ, पूर्व मुख्यमंत्री, मध्य प्रदेश

कांग्रेस से बीजेपी में आए मध्य प्रदेश के कद्दावर नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने इस घटना का को दुर्भाग्यपूर्ण बताया. उन्होंने लिखा कि-

गुना की दुर्भाग्यपूर्ण घटना को गंभीरता से संज्ञान में लेते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी ने गुना के कलेक्टर और एसपी को तत्काल प्रभाव से हटाने के निर्देश दे दिए है
ज्योतिरादित्य सिंधिया, बीजेपी नेता

कलेक्टर और एसपी को तत्काल हटाने का आदेश

मध्य प्रदेश के गुना में दलित किसान दंपत्ति ने फसल बर्बाद किए जाने से नाराज होकर अपने बच्चों और पुलिस के सामने कीटनाशक खा लिया. अब इस मामले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जिले के कलेक्टर और एसपी को तत्काल हटाने का आदेश दिया है. साथ ही मुख्यमंत्री ने घटना की जांच के आदेश भी दिए हैं.

दरअसल, बताया जा रहा है कि मंगलवार को गुना के जगतपुर चौक पर पुलिस सरकारी जमीन से अतिक्रमण हटाने पहुंची थी. जिसके बाद किसान परिवार ने विरोध किया. जिसपर पुलिस ने किसान दंपति की पिटाई कर दी. जिसके बाद पुलिस की बर्बरता का वीडियो वायरल हो गया.

वीडियो वायरल होने के बाद विपक्ष से लेकर सोशल मीडिया पर मध्य प्रदेश सरकार को लोग घेरने लगे. जिसके बाद सीएम शिवराज सिंह चौहान को एक्शन लेना पड़ा.

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!