ADVERTISEMENT

जावेद मोहम्मद की बेटी का आरोप-घर में हथियार मिलने का पुलिस का दावा गलत

Prophet Remarks Row: प्रयागराज SSP का दावा- आरोपी जावेद मोहम्मद के घर से अवैध हथियार मिले

Updated
भारत
3 min read

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में स्थानीय प्रशासन ने हिंसक विरोध प्रदर्शन के प्रमुख आरोपी जावेद मोहम्मद (Javed Mohammed) के घर पर रविवार, 12 जून को बुलडोजर चलाया. इस कार्रवाई के कुछ ही घंटे बाद पुलिस ने आरोपी के घर में "अवैध हथियार" मिलने का आरोप लगाया. ऐसे में अब जावेद मोहम्मद की 19 वर्षीय बेटी सुमैया फातिमा ने प्रयागराज पुलिस द्वारा लगाए गए इन आरोपों को सिरे से नकार दिया है.

ADVERTISEMENT

क्विंट से बात करते हुए सुमैया फातिमा ने कहा कि अगर वास्तव में हथियार थे तो वे घर पर बुलडोजर चलते समय लाइव प्रसारण में जरूर दिख जाता.

“हमारे घर के डेमोलिशन का लाइव प्रसारण किया जा रहा था. जब हमारा घर खाली किया जा रहा था तब सभी ने देखा कि हमारे घर से क्या कुछ निकला. पुलिस अंदर गयी और हमारे घर से एक-एक सामान निकाला. लेकिन उसे कोई हथियार बरामद नहीं हुआ. अगर हथियार होते तो क्या यह लाइव प्रसारण में दिखाई नहीं देता? या वहां मौजूद भारी भीड़ में से किसी ने इसे नहीं देखा होता?
सुमैया फातिमा

सुमैया फातिमा ने आगे कहा कि “और अगर वास्तव में हथियार मिले हैं तो उनकी फोटोज कहां हैं? साफ है कि कोई हथियार नहीं मिला था, यह सब हमारे परिवार को बदनाम करने के लिए आरोप लगाए जा रहे हैं”

गौरतलब है कि बुलडोजर चलने के बाद मीडिया से बात करते हुए प्रयागराज के SSP अजय कुमार ने दावा किया था कि जावेद मोहम्मद के घर से 12 बोर का अवैध तमंचा, 315 बोर का तमंचा और कई कारतूस बरामद हुए हैं. साथ ही ऐसे डॉक्यूमेंट बरामद किए जाने का दावा भी है, इसमें न्यायपालिका पर कथित तौर पर 'तल्ख टिप्पणी' की गयी है.

हालांकि जावेद मोहम्मद की बेटी सुमैया फातिमा ने इन आरोपों को झूठा करार दिया.

ADVERTISEMENT
"आखिर उन्हें हमें दोष देने के लिए कुछ तो चाहिए. अगर वे ये नहीं करते तो उन्होंने हमारे साथ जिस तरह का व्यवहार किया था, उसे जस्टिफाई नहीं कर पाते. इसलिए उनके पास इस तरह के फर्जी आरोप लगाने के अलावा कोई विकल्प नहीं है. जो भी तार्किक रूप से सोचता होगा, वह खुद से पूछेगा कि लाइव प्रसारण में ऐसा कोई हथियार क्यों नहीं दिखा"

मालूम हो कि प्रयागराज में यह पूरा बुलडोजर एक्शन मीडिया कैमरों की मौजूदगी के बीच हुआ था. सोशल मीडिया पर पहले घर को खाली करने और फिर उसे ध्वस्त करने के वीडियो वायरल हुए थे.

इन फुटेज में सुमैया की बड़ी बहन और स्टूडेंट एक्टिविस्ट आफरीन फातिमा समेत परिवार के सदस्यों को देखा जा सकता था. इन विजुअल्स में घर के अंदर से कुछ झंडे हटते दिखे.

सुमैया ने कहा कि "हां, वे झंडे ही थे. वे वेलफेयर पार्टी ऑफ इंडिया के झंडे हैं, जिस राजनीतिक दल से हमारे पिता संबंध रखते हैं”

पैगंबर मुहम्मद पर विवादस्पद टिप्पणी को लेकर प्रयागराज में भड़के हिंसक विरोध प्रदर्शन के प्रमुख आरोपी व्यक्तियों में से एक जावेद मोहम्मद को पुलिस ने शुक्रवार, 10 जून को गिरफ्तार किया था.

सुमैया और उनकी मां परवीन को उसी रात बाद में पुलिस पूछताछ के लिए ले गई और दोनों को रविवार, 12 जून की सुबह 30 घंटे से अधिक समय के बाद रिहा किया गया.

उनकी रिहाई के कुछ घंटे बाद ही उनके घर पर प्रशासन ने बुलडोजर चलकर उसे ध्वस्त कर दिया.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी पर लेटेस्ट न्यूज और ब्रेकिंग न्यूज़ पढ़ें, news और india के लिए ब्राउज़ करें

टॉपिक:  prayagraj 

ADVERTISEMENT
Published: 
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
और खबरें
×
×