पुलवामा हमले की बरसी पर CRPF, “हमने भूला नहीं, हमने छोड़ा नहीं”

14 फरवरी को पुलवामा जिले में CRPF के काफिले पर फिदायीन हमला हुआ था, इसमें 40 जवान शहीद हो गए थे.

Updated
भारत
2 min read
पुलवामा हमला
i

दिन- 14 फरवरी 2019, जगह- जम्मू-कश्मीर का पुलवामा. वक्त- शाम करीब 3.30 मिनट. तब ही अचानक एक धमाका होता है और सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो जाते हैं. आज से ठीक एक साल पहले एक आतंकी हमले में देश अपने 40 जवानों को खो देता है. जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले की आज पहली बरसी है और देश शहीद जवानों को सलाम कर रहा है.

सीआरपीएफ ने अपने जवानों को याद करते हुए लिखा है,

“तुम्हारे शौर्य के गीत, कर्कश शोर में खोये नहीं. गर्व इतना था कि हम देर तक रोये नहीं.”

सीआरपीएफ ने ट्विटकर शहीद जवानों को याद किया है. आगे लिखा है, “हमने भूला नहीं, हमने छोड़ा नहीं. हम अपने भाईयों को सलाम करते हैं, जिन्होंने पुलवामा में देश के लिए जान दी. हम उनके परिवारों के साथ कंधे से कंधा लगाकर खड़े हैं.”

बता दें 14 फरवरी को पुलवामा जिले में CRPF के काफिले पर फिदायीन हमला हुआ था, इसमें 40 जवान शहीद हो गए थे. काफिले में 78 व्हीकल्स थे, जिनमें 2,500 जवान मौजूद थे. 14 फरवरी 2019 को पुलवामा में आरडीएक्स से लैस एक गाड़ी CRPF के काफिले से टकरा गई. इस धमाके ने जवानों की जान ले ली.

PM मोदी ने दी श्रद्धांजलि

पीएम मोदी ने कहा, “पिछले साल पुलवामा हमले में जान गंवाने वाले बहादुर शहीदों को श्रद्धांजलि. वे असाधारण व्यक्ति थे जिन्होंने हमारे राष्ट्र की सेवा और रक्षा के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया. भारत उनकी शहादत को कभी नहीं भूलेगा.”

रक्षा मंत्री ने भी शहीदों को किया याद

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी सीआरपीएफ के शहीद जवानों को याद किया. राजनाथ ने लिखा, “भारत उनके बलिदान को कभी नहीं भूलेगा. संपूर्ण राष्ट्र आतंकवाद के खिलाफ एकजुट है और हम इस खतरे के खिलाफ अपनी लड़ाई जारी रखने के लिए प्रतिबद्ध हैं.”

गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीटकर कहा,

मैं पुलवामा हमले के शहीदों को श्रद्धांजलि देता हूं. भारत हमेशा हमारे बहादुरों और उनके परिवारों का आभारी रहेगा जिन्होंने हमारी मातृभूमि की संप्रभुता और अखंडता के लिए सर्वोच्च बलिदान दिया है.

कांग्रेस पार्टी ने भी दी श्रद्धांजलि

कांग्रेस पार्टी ने पुलवामा हमले के शहीदों को श्रद्धांजली देते हुए कहा है, “एक साल पहले हमने पुलवामा में भयावह हिंसा और नफरत में 40 से ज्यादा बहादुर जवानों को खो दिया. हर दिन युवा पुरुष और महिलाएं अपने जीवन का बलिदान देते हैं ताकि हमारा राष्ट्र सुरक्षित रह सके. आज हम अपने शहीदों का सम्मान करते हैं और उनकी वीरता को श्रद्धांजलि देते हैं. जय हिन्द.”

पुलवामा हमले में शहीदों में महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, हिमाचल, पश्चिम बंगाल, असम, ओडिशा, केरल, कर्नाटक, राजस्थान और तमिलनाडु के जवान शामिल हैं.

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!