ADVERTISEMENT

UP: अमेठी के सरकारी स्कूल में दलित बच्चों से भेदभाव, प्रिसिंपल सस्पेंड

बच्चों द्वारा विरोध किए जाने पर होती है उनकी पिटाई

Published
भारत
1 min read
UP: अमेठी के सरकारी स्कूल में दलित बच्चों से भेदभाव, प्रिसिंपल सस्पेंड
i

रोज का डोज

निडर, सच्ची, और असरदार खबरों के लिए

By subscribing you agree to our Privacy Policy

उत्तर प्रदेश(UP) के अमेठी(Amethi) से जातिगत भेदभाव का मामला सामने आया है. अमेठी ब्लॉक के वनपुरवा प्राथमिक विद्दालय में तैनात प्रिंसिपल पर दलित छात्रों के साथ जातिगत भेदभाव करने की शिकायत सामने आई है. प्रधानाध्यापक पर एक विशेष समुदाय के छात्रों के साथ भेदभाव का आरोप लगा है. इससे पहले मैनपुरी में भी ऐसा ही मामला सामने आया था. जहां विशेष जाति के बच्चों से उनके वर्तन अलग रखने और खुद धोने के लिए कहा गया था.

ADVERTISEMENT

इस मामले की शिकायत संग्रामपुर थाने पहुंचे एक दलित परिवार ने शिकायती पत्र देकर कहा कि इस स्कूल में पढ़ने वाले दलित बच्चों को दोपहर में विद्दालय में दिए जाने वाले मिडे-डे-मील भोजन के समय उन्हें अन्य बच्चों से अलग लाइन में बैठाया जाता हैं. पत्र में लिखा है कि जब बच्चे इस भेदभाव का विरोध करते हैं, तो टीचर उन दलित बच्चों की पिटाई भी करती हैं.

बता दें, संग्रामपुर थाना क्षेत्र के गड़ेरी गांव से दो परिवार ग्राम प्रधान विनय जायसवाल के साथ मंगलवार थाने पहुंच कर इस मामले की शिकायत की हैं.

वहीं अमेठी के बीएसए डॉ अरविंद कुमार पाठक ने बताया कि मामला संज्ञान में आने के बाद प्रिसिंपल कुसुम सोनी निलंबित कर दिया है. और पूरे मामले की जांच खंड शिक्षाधिकारी गौरीगंज को सौंपी हैं. वहीं, डीएम ने प्रधानाध्यापिका के खिलाफ FIR दर्ज करने के निर्देश दिए हैं.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
500
1800
5000

or more

प्रीमियम

3 माह
12 माह
12 माह
मेंबर बनने के फायदे
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
और खबरें
×
×