ADVERTISEMENT

3 कांग्रेस MLA की कार में कैश का केस: ''BJP की थी झारखंड सरकार गिराने की साजिश''

Jharkhand Congress MLA cash scandal: कांग्रेस विधायक अनूप सिंह ने अपनी ही पार्टी के तीन विधायकों पर दर्ज कराई FIR

Published
ADVERTISEMENT

पश्चिम बंगाल में शनिवार, 30 जुलाई की रात झारखंड के 3 कांग्रेस विधायकों (Jharkhand Congress MLA Cash scandal) के पास से भारी मात्रा में कैश बरामद होने के मामले में नया मोड़ आया है. झारखंड कांग्रेस के ही एक विधायक ने गिरफ्तार विधायकों और बीजेपी पर गंभीर आरोप लगाए हैं. बेरमो से कांग्रेस विधायक अनूप सिंह ने कहा है कि उन्हें सोरेन सरकार गिराने के लिए 10 करोड़ रुपए ऑफर हुए थे और उन्हें असम के सीएम हिमंता बिस्वा सरमा से मिलाने के लिए गुवाहाटी चलने को कहा गया था. इस संबंध में उन्होंने रांची कोतवाली थाने में एक एफआईआर दर्ज कराई है.

ADVERTISEMENT

झारखंड कैश कांड में गिरफ्तार कांग्रेस के 3 विधायक 

(फोटो- एक्सेस बाई क्विंट)

''इरफान अंसारी मुझे असम के सीएम हिमंता बिस्वा सरमा के पास ले जाना चाहते थे''

दर्ज एफआईआर में विधायक अनूप सिंह ने कहा है कि कांग्रेस के तीन विधायक डॉ इरफान अंसारी, नमन विक्सल कोंगारी और राजेश कच्छप की तरफ से ये ऑफर दिया गया. कहा गया कि कोलकाता जाना है और वहां से सीधे असम पहुंचना है.

विधायक अनूप सिंह की शिकायत पर दर्ज FIR 

(फोटो- एक्सेस बाई क्विंट)

आरोप है कि असम में वहां के सीएम हिमंता बिस्वा सरमा से मिलकर इस बात का विश्वास लेना था कि इस पैसे के अलावा उन्हें नए सरकार में मंत्रीपद भी दिया जाएगा. अनूप सिंह के अनुसार गिरफ्तार विधायक इरफान अंसारी ने बताया था कि उन्होंने अपने लिए हेल्थ मिनिस्टर का पद पहले ही मांग लिया है.

एफआईआर में आगे उन्होंने बताया है कि, इरफान अंसारी ने कहा है कि उनके आदमी को पैसा ट्रांसफर कर दिया जाएगा. एक बार जब वह असम के सीएम से मिल लेंगे तो बाकि के रकम और मंत्री पद फाइनल कर दिया जाएगा. अनूप सिंह ने आरोप लगाया है कि उन्हें यह विश्वास दिलाया कि हिमंता बिस्वा सरमा ऐसा बीजेपी के टॉप लीडर के दिशा-निर्देश पर कर रहे हैं.

ADVERTISEMENT

अनूप सिंह ने कहा है कि वह इस असंवैधानिक गतिविधि में खुद को शामिल नहीं करना चाहते हैं. वह चाहते हैं कि सरकार गिराने की साजिश में शामिल लोगों के खिलाफ प्रिवेंशन ऑफ कप्शन एक्ट के तहत कार्रवाई की जाए.

इस पूरे मसले पर रविवार दोपहर कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राजेश ठाकुर, मंत्री आलमगीर आलम ने प्रेस कॉन्फ्रेंस किया. राजेश ठाकुर ने कहा कि ये वर्तमान सरकार को गिराने की साजिश है.

वहीं मंत्री आलमगीर आलम ने कहा कि हम लगातार पूरे मामले पर नजर बनाए हुए हैं. जांच चल रही है, आगे जो भी रिपोर्ट सामने आएगी, हम उसे जनता और मीडिया के सामने पेश करेंगे. साथ ही पूरी रिपोर्ट दिल्ली आलाकमान को भी भेजी जा रही है.

हालांकि एफआईआर में ये नहीं बताया गया कि ये फोन उन्हें कब और किस नंबर से किया गया. ये ऑफर कब दिया गया. जब ऑफर दिया गया तो उन्होंने इसकी जानकारी आलाकमान को दी या नहीं. जिस वक्त ऑफर हुआ, उसी वक्त एफआईआर दर्ज क्यों नहीं कराई.

ADVERTISEMENT

कांग्रेस अपने पाप छुपाने के लिये षड्यंत्र कर रही- बीजेपी 

झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और मौजूदा विपक्ष के नेता बाबूलाल मरांडी ने कांग्रेस अपने पाप छुपाने के लिये षड्यंत्र रचने का आरोप लगाया है. उन्होंने अपने ट्वीट में कहा है कि

"अपने विधायकों की मोटी रकम साथ पकड़े जाने पर कांग्रेस ने अपने पाप छुपाने के लिये एक झूठा एफआईआर कर भाजपा को बदनाम करने का षड्यंत्र किया है. यह शर्मनाक और हास्यास्पद है. इन्हें खुद के विधायकों पर भरोसा नहीं. ये अपने विधायकों के भ्रष्टाचार,कुकर्मों को छिपाने का प्रयास कर रहे हैं."

बता दें कि भारी मात्रा में कैश के साथ बंगाल में हिरासत में लिए गए झारखंड कांग्रेस के तीन विधायकों को अब गिरफ्तार कर लिया गया है. तीनो विधायकों को हावड़ा कोर्ट ने 10 दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया है. मामले की जांच CID कर रही है. वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस पार्टी ने कार्रवाई करते हुए, तीनों विधायकों को सस्पेंड कर दिया है.

(इनपुट- आनंद दत्त)

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी पर लेटेस्ट न्यूज और ब्रेकिंग न्यूज़ पढ़ें, news और politics के लिए ब्राउज़ करें

टॉपिक:  jharkhand 

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
×
×