मुख्यमंत्री के तौर पर केजरीवाल ही दिल्ली की पहली पसंद- सर्वे 

आम आदमी पार्टी (आप) के प्रमुख केजरीवाल को आईएएनएस-सीवोटर दिल्ली पोल ट्रैकर में 67.6 फीसदी मत मिले हैं.

Published15 Jan 2020, 03:28 AM IST
पॉलिटिक्स
2 min read

मौजूदा मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल आठ फरवरी को होने वाले विधानसभा चुनावों में दिल्ली के मुख्यमंत्री पद के लिए बहुसंख्यक लोगों की पसंद हैं. आम आदमी पार्टी (आप) के प्रमुख केजरीवाल को आईएएनएस-सीवोटर दिल्ली पोल ट्रैकर में 67.6 फीसदी मत मिले हैं.

लिस्ट में दूसरे पायदान पर केंद्रीय मंत्री और बीजेपी सांसद हर्षवर्धन हैं, जो 11.9 फीसदी लोगों की पसंद हैं.

एक कांग्रेस नेता (1.3 फीसदी), दूसरे बीजेपी नेता (8.8 फीसदी) और एक दूसरे आप नेता (1.4 फीसदी) के लिए मत एकल संख्या में हैं. 

लोगों से 11 नवंबर 2019 और 14 जनवरी के बीच सवाल किए गए. एक अपवाद को छोड़कर केजरीवाल का वोट शेयर ज्यादातर 60 प्लस फीसदी की सीमा में था. अपवाद में यह 70 फीसदी में चला गया था.

सर्वे का सैंपल साइज 2,326 वोटरों का था, जो दिल्ली के शहरी, अर्ध-शहरी और ग्रामीण इलाकों में किया गया.

आईएएनएस-सीवोटर का पहला अनुमान छह जनवरी को जारी हुआ था. उस समय लोगों ने आप पार्टी द्वारा 59 सीटें जीतने की बात कही थी, जबकि बीजेपी को महज आठ सीटें और कांग्रेस को तीन सीटें मिलने का अनुमान सामने आया था. 

वहीं एबीपी न्यूज-सी वोटर ने भी अपने ओपिनियन पोल जारी किया थे. एबीपी न्यूज-सी वोटर के इस पोल के मुताबिक, अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी को भारी बहुमत हासिल हो सकता है वहीं बीजेपी 8 सीटों और कांग्रेस 3 सीटों पर सिमट सकती है.

एबीपी न्यूज-सी वोटर के इस पोल के मुताबिक, अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी को भारी बहुमत हासिल हो सकता है
एबीपी न्यूज-सी वोटर के इस पोल के मुताबिक, अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी को भारी बहुमत हासिल हो सकता है
  (फोटो: क्विंट हिंदी)  

इससे पहले जब दिल्ली के लोगों से पूछा गया कि अगर ऐसा कोई कारण हो कि आपको विधानसभा चुनाव में अपनी पसंदीदा पार्टी को वोट न देकर किसी बाकी पार्टी को वोट देना हो तो आप किसे देंगे? इस 37.5 फीसदी लोगों ने स्पष्टता जाहिर नहीं की थी.

बता दें कि दिल्ली विधानसभा की 70 सीटों पर आठ फरवरी को चुनाव होगा. इसके नतीजे 11 फरवरी को घोषित किए जाएंगे. 14 जनवरी को नोटिफिकेशन जारी होगा. नामांकन की आखिरी तारीख 21जनवरी है. बता दें कि ऐलान के साथ दिल्ली में चुनाव आचार संहिता लागू हो गई है. दिल्ली विधानसभा का कार्यकाल 22 फरवरी को खत्म हो रहा है.

यह भी पढ़ें: AAP को फिर प्रचंड जीत,आसपास भी नहीं BJP-दिल्ली चुनाव पर पहला सर्वे

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!