हरियाणा चुनाव: खट्टर की संपत्ति 1.27 Cr रुपए,5 साल में 11 गुना बढ़ी
हरियाणा चुनाव: खट्टर की संपत्ति 1.27 Cr रुपए,5 साल में 11 गुना बढ़ी
(फोटो: PTI)

हरियाणा चुनाव: खट्टर की संपत्ति 1.27 Cr रुपए,5 साल में 11 गुना बढ़ी

सरकारी वेतन के तौर पर आय के इकलौते स्रोत के बावजूद हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की चल संपत्ति पांच साल में 8.29 लाख रुपये से बढ़कर 94 लाख रुपये हो गई. इसके साथ ही उनकी अचल संपत्ति का मूल्य 33 लाख रुपये है. नामांकन पत्र दाखिल करते समय खट्टर ने अपनी संपत्ति का ब्यौरा दिया.

Loading...

हरियाणा के करनाल विधानसभा क्षेत्र से मंगलवार को अपना नामांकन पत्र भरने वाले मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने अपनी 1.27 करोड़ रूपये की संपत्ति घोषित की है. करनाल के निर्वाचन अधिकारी के सामने 65 वर्षीय खट्टर की ओर से नामांकन पत्रों के साथ दाखिल किये गये हलफनामे के मुताबिक उन्होंने अपने पास 94 लाख रूपये की चल सपंत्ति और 33 लाख रूपये की अचल संपत्ति होने की घोषणा की है. हलफनामे के मुताबिक उनकी चल संपत्ति 2014 के 8,29,952 रूपये से बढ़कर इस साल 94,00,985 रूपये हो गयी. उसमें उनकी बैंक जमा और नकदी शामिल है.


अचल संपत्ति में खट्टर के पास रोहतक जिले में अपने पैतृक गांव बिनयानी में पुश्तैनी कृषि जमीन है जिसकी कीमत 30 लाख रूपये है. हलफनामे के मुताबिक उनके पास कोई गैर कृषि जमीन या कमर्शियल संपत्ति नहीं है. बस उनके पास बिनयानी गांव में 800 वर्ग फुट का घर है. उसका बाजार भाव तीन लाख रूपये हैं. पिछली बार चुनावी हलफनामे में भी यही कीमत बतायी गयी थी.

ये भी पढ़ें- हरियाणा चुनाव: BJP की पहली लिस्ट, बबीता-योगेश्वर भी लड़ेंगे चुनाव

हलफनामे के मुताबिक खट्टर के खिलाफ कोई आपराधिक मामला दर्ज नहीं है और न ही किसी मामले में वह दोषी ठहराये गये हैं. उनके पास कोई वाहन नहीं है.  

खट्टर पेशे से 'विधायक'

मुख्यमंत्री ने बताया है कि वह दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातक हैं . उनके पास 15,000 रूपये नकद है. उन पर कोई कर्ज, बकाया या देनदारी नहीं है. चंडीगढ़ के सेक्टर तीन में उन्हें दिए गए आवास के लिए उन पर किराये, बिजली, पानी और टेलीफोन बिल का कोई बकाया नहीं है. उन्होंने अपने आप को पेशे से विधायक बताया है. 2014 में पिछली बार उन्होंने खुद को किसान बताया था और कहा था कि वह ट्यूशन पढ़ाते हैं.

खट्टर ने अपनी तनख्वाह को अपनी आय का स्रोत बताया है और उन्होंने 2018-19 के लिए 28.95लाख रूपये, 2017-18 के लिए 31.39 लाख रूपये, 2016-17 के लिए 34.86 लाख रूपये 2015-16 के लिए 6.21 लाख रूपये का आयकर रिटर्न फाइल किया था.

(इनपुट - पीटीआई)

ये भी पढ़ें- हरियाणा चुनाव: पैराशूट लैंडिंग से CM बने खट्टर आज BJP का चेहरा हैं

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Follow our पॉलिटिक्स section for more stories.

Loading...