ADVERTISEMENT

कैप्टन अमरिंदर सिंह के इस्तीफे पर AAP- 'कांग्रेस डूबता टाइटैनिक बन चुकी'

इस्तीफा देने के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि जिस तरह से बातचीत हुई है, इससे वो अपमानित महसूस कर रहे हैं.

Published
<div class="paragraphs"><p>कैप्टन अमरिंदर सिंह</p></div>

कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh) के पंजाब के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद प्रतिक्रियाएं आनी शुरू हो गई हैं. पंजाब बीजेपी अध्यक्ष अश्विनी शर्मा ने अमरिंदर सिंह के इस्तीफे को कांग्रेस के 'ताबूत में आखिरी कील' करार दिया. वहीं, पंजाब में अपनी पैठ बना रही आम आदमी पार्टी ने पंजाब में सरकार को कांग्रेस की सबसे बड़ी कैजुअल्टी बताया.

ADVERTISEMENT

आम आदमी पार्टी के विधायक राघव चड्ढा ने एक वीडियो मैसेज में पंजाबी में कहा कि कांग्रेस ने पंजाब को बहुत बड़ा धोखा दिया है. उन्होंने कहा, "सत्ता की इस नंगी लड़ाई में सबसे बड़ा नुकसान पंजाब की आवाम को हुआ है. पंजाब की सरकार ठप्प पड़ गई है. गवर्नेंस बिल्कुल जीरो. इन लोगों को पंजाब की खुशहाली की नहीं, बल्कि अपनी खुशी और कुर्सी की परवाह है. कांग्रेस आज डूबता टाइटैनिक जहाज बन चुकी है."

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने लिखा, "मुझे लगता है कि कांग्रेस से ये उम्मीद करना बहुत ज्यादा है कि वो बीजेपी से लड़ाई लड़ेगी, जब उसके राज्य के नेता आपस में लड़ने में व्यस्त हैं."

हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज ने भी पंजाब की सियासत पर हमला बोलते हुए प्रदेश कांग्रेस को डूबता जहाज बताया. विज ने ट्वीट में लिखा, "कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पंजाब के मुख्यमंत्री पद से त्यागपत्र दिया है. इसकी पटकथा तो उसी दिन लिख दी गयी थी, जिस दिन नवजोत सिंह सिधु का कांग्रेस में प्रवेश हुआ था, क्योंकि जहां-जहां पांव पड़े ‘संतन’ के तहां-तहां बंटाधार."

ट्रिब्यून की रिपोर्ट के मुताबिक, BJP के राष्ट्रीय सचिव चुग ने एक बयान में कहा कि जिस तरह से CLP की भगदड़ बैठक बुलाई गई, उससे पार्टी में घबराहट और भ्रम की स्थिति का पता चलता है. उन्होंने कहा, "कांग्रेस के मुख्यमंत्री को बदलना कांग्रेस आलाकमान की एक भयानक प्रतिक्रिया है, जो पिछले साढ़े चार साल से अधिक समय में पार्टी की स्थिति को उबारने में विफल रही है."

'अपमानित महसूस कर रहा हूं' - कैप्टन अमरिंदर सिंह

मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि जिस तरह से बातचीत हुई है, वो अपमानित महसूस कर रहे हैं. राजभवन गेट पर मीडिया को संबोधित करते हुए कहा, "जिस तरह से बातचीत हुई उससे मैं खुद को अपमानित महसूस कर रहा हूं. मैंने आज सुबह कांग्रेस अध्यक्षा से बात की, उनसे कहा कि मैं आज इस्तीफा दे दूंगा... हाल के महीनों में यह तीसरी बार है जब मैं विधायकों से मिला हूं... इसलिए मैंने इस्तीफा देने का फैसला किया."

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT