ADVERTISEMENTREMOVE AD

बंगाल में मतदान के दौरान हिंसा; भीड़ ने तालाब में फेंकी EVM-VVPAT मशीनें

West Bengal Violence: घटनास्थल से कुछ देसी बम भी बरामद किए गए. चुनाव आयोग ने इस घटना पर कार्रवाई रिपोर्ट मांगी है.

Published
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा

पश्चिम बंगाल (West Bengal) के नौ सीटों पर लोकसभा चुनाव (Loksabha Election 2024) के आखिरी चरण का मतदान जारी है. इस बीच राज्य में कई जगहों से हिंसा की खबरें आई हैं. कोलकाता के पास जादवपुर निर्वाचन क्षेत्र में इंडियन सेक्युलर फ्रंट (ISF) और तृणमूल कांग्रेस (TMC) समर्थकों के बीच झड़प हो गई है. दोनों गुटों के बीच लड़ाई के दौरान देसी बम भी इस्तेमाल हुए जिसने स्थिति को और खराब कर दिया.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

बंगाल के कई इलाकों में हिंसा

चुनाव आयोग के मुताबिक, सुबह 11 बजे तक राजनीतिक दलों ने लगभग 1,450 शिकायतें दर्ज कराई, जिसमें इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (EVM) में खराबी, एजेंटों को मतदान केंद्रों में प्रवेश करने से रोकना और मतदाताओं को धमकाने या विभिन्न निर्वाचन क्षेत्रों में वोट डालने से रोकने जैसे आरोप शामिल थें.

इंडियन एक्सप्रेस के रिपोर्ट के मुताबिक,

जादवपुर निर्वाचन क्षेत्र के भांगर के सतुलिया इलाके में तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) और इंडियन सेक्युलर फ्रंट (आईएसएफ) के समर्थकों के बीच झड़प हो गई. दोनों पार्टियों के समर्थकों ने देसी बम भी फेंके. जब पुलिस मौके पर पहुंची तो दोनों पार्टियों ने एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगाना शुरू कर दिया.

भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा. इलाके से कुछ देसी बम भी बरामद किए गए. चुनाव आयोग ने इस घटना पर कार्रवाई रिपोर्ट मांगी है.

इस घटना के अलावा जादवपुर निर्वाचन क्षेत्र के फुलबाड़ी इलाके में भी TMC और ISF समर्थकों के बीच झड़प हुई. यहां भी सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस ने लाठीचार्ज कर भीड़ को हटाया. हालांकि कोलकता पुलिस ने ट्विट कर बताया कि फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है.

पानी में फेंकी गई VVPAT मशीनें

दक्षिण 24 परगना जिले के कुलतली में बूथ संख्या 40 और 41 पर एक ईवीएम और वोटर वेरिफिएबल पेपर ऑडिट ट्रेल (VVPAT) मशीन कथित तौर पर पानी में फेंक दी गई. .पश्चिम बंगाल के सीईओ ने एक्स पर एक पोस्ट में कहा,

“आज सुबह 6.40 बजे 19-जयनगर (SC) पीसी के 129-कुलतली एसी में बेनीमाधवपुर एफपी स्कूल के पास सेक्टर ऑफिसर के रिजर्व ईवीएम और कागजात स्थानीय भीड़ द्वारा लूट लिए गए और 1 सीयू, 1 बीयू, 2 वीवीपीएटी मशीनों को एक तालाब के अंदर फेंक दिया गया.”

पोस्ट में आगे कहा गया कि "सेक्टर पुलिस थोड़ी पीछे थी. सेक्टर अधिकारी द्वारा एफआईआर दर्ज कर ली गई है और आवश्यक कार्रवाई शुरू कर दी गई है. सेक्टर के अंतर्गत आने वाले सभी छह बूथों पर मतदान प्रक्रिया जारी है. सेक्टर अधिकारी को नई ईवीएम और कागजात उपलब्ध करा दिए गए हैं."

इस बीच, दक्षिण 24 परगना जिले के कैनिंग में वोट डालने गए तीन मतदाताओं के सिर में चोटें आईं. मतदाताओं ने आरोप लगाया कि उन पर टीएमसी कार्यकर्ताओं ने हमला किया.
ADVERTISEMENTREMOVE AD

मतदान के दौरान उठा संदेशखली मुद्दा

टीएमसी के राष्ट्रीय महासचिव अभिषेक बनर्जी कोलकाता दक्षिण निर्वाचन क्षेत्र के मित्रा इंस्टीट्यूशन में वोट डालने गए. मतदान केंद्र से बाहर आने के बाद उन्होंने कहा, "सभी नौ निर्वाचन क्षेत्रों में लोग उत्सव के मूड में मतदान कर रहे हैं. मौसम भी सुहाना हो गया है और बहुत ज्यादा गर्मी नहीं है. इससे लोग बड़ी संख्या में घरों से निकलकर अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर सकेंगे. मुझे उम्मीद है कि वे पिछले पांच सालों में बंगाल को फंड से वंचित रखने के लिए केंद्र को करारा जवाब देंगे. आज के मतदान में इसकी झलक देखने को मिलेगी."

इस बीच, संदेशखली के बरमजूर इलाके में बीजेपी ने आरोप लगाया कि टीएमसी कार्यकर्ताओं और पुलिसकर्मियों ने शुक्रवार (31 मई) की रात उनके घरों में जाकर उनके पोलिंग एजेंटों को धमकाया. सोशल मीडिया पर वीडियो क्लिप शेयर करते हुए पार्टी ने कहा कि संदेशखली की महिलाओं ने एक बार फिर चुनाव के अंतिम चरण से पहले लोगों को आतंकित करने के टीएमसी सरकार के कदम का विरोध किया है.

बीजेपी आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने एक्स पर एक पोस्ट में लिखा, "संदेशखली की बहादुर महिलाओं ने भ्रष्ट और समझौतावादी पश्चिम बंगाल पुलिस को खदेड़ दिया है. हमारी महिला नेता उनसे बात कर रही हैं और हर कोई ममता बनर्जी के अत्याचार के खिलाफ वोट करेंगी."

ADVERTISEMENTREMOVE AD

कड़ी सुरक्षा के बीच बंगाल में जारी है मतदान

पश्चिम बंगाल में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच नौ सीटों पर मतदान हो रहा है – दमदम (24.83 प्रतिशत), बारासात (27.86 प्रतिशत), बशीरहाट (32.57 प्रतिशत), जॉयनगर (30.25 प्रतिशत), मथुरापुर (30.25 प्रतिशत), डायमंड हार्बर (31.51 प्रतिशत), जादवपुर (26.59 प्रतिशत), कोलकाता दक्षिण (24.02 प्रतिशत) और कोलकाता उत्तर (24.02 प्रतिशत).

यह वोटिंग पर्सेंट सुबह 11 बजे तक हुए मतदान के हैं.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×