ADVERTISEMENT

Patna में Bulldozer कार्रवाई पर बोले निवासी- "पहले पैसा लिया और अब घर तोड़ दिया"

Patna Bulldozer Action: नेपाली नगर कॉलोनी में 70 मकानों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है.

Updated
राज्य
2 min read

रोज का डोज

निडर, सच्ची, और असरदार खबरों के लिए

By subscribing you agree to our Privacy Policy

ADVERTISEMENT

बिहार (Bihar) की राजधानी पटना (Patna) में बुलडोजर कार्रवाई (Bulldozer Action) के दौरान जमकर बवाल हुआ. राजीव नगर थाना क्षेत्र के नेपाली नगर (दीघा) इलाके में लोगों ने प्रशासन की कार्रवाई का विरोध करते हुए हंगामा कर दिया. इस दौरान लोगों ने एक ठेले में आग लगा दी और जमकर पथराव भी किया. अतिक्रमण विरोधी अभियान के दौरान पुलिस और स्थानीय लोगों के बीच हुई झड़प में सिटी एसपी अंबरीश राहुल सहित कई पुलिसकर्मी घायल हो गए हैं.

ADVERTISEMENT
जानकारी के मुताबिक नेपाली नगर कॉलोनी में 70 मकानों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है. प्रशासन ने इसके लिए 17 JCB की मदद ली है. लोगों के विरोध को देखते हुए इलाके में 2000 से ज्यादा पुलिस बल तैनात है.

पटना सिटी एसपी घायल

बुलडोजर एक्शन के दौरान हुए झड़प और पथराव में सिटी एसपी अंबरीश राहुल समेत कई पुलिसकर्मियों को चोट आई है. आक्रोशित लोगों ने जेसीबी में भी तोड़फोड़ की है. फिलहाल इलाके में तनाव का माहौल है, जिसको देखते हुए भारी पुलिसबल तैनात किया गया है.

नेपाली नगर कॉलोनी में बुलडोजर एक्शन

(फोटो:क्विंट)

स्थानीय लोगों ने उठाए कार्रवाई पर सवाल

गौरतलब है कि एक महीना पहले ही पटना प्रशासन ने नेपाली नगर कॉलोनी में 70 मकान मालिकों को नोटिस दिया था. जिसके बाद से लोगों ने आंदोलन शुरू कर दिया था.

स्थानीय लोगों ने किया कार्रवाई का विरोध

(फोटो:क्विंट)

लोगों का कहना है कि अगर मकान अवैध है तो नगर निगम टैक्स क्यों लेता है? हम लोगों ने इसी मकान के नाम पर बिजली-पानी का कनेक्शन लिया है. फिर उनके मकान को क्यों और कैसे तोड़ा जा रहा है?

वहीं, मकान मालिकों की मांग पर अंचल अधिकारी ने मामले में एक बार फिर से सुनवाई की थी. लेकिन दस्तावेज देखने के बाद फिर से एक हफ्ते का समय देकर मकान को तोड़कर हटाने के लिए कहा गया था. वहीं ऐसा नहीं करने पर मकान को प्रशासन की ओर से तोड़ने और हर्जाना भी लगाने की बात कही गई थी.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×