ADVERTISEMENT

केरल: नन रेप केस में बिशप फ्रैंको मुलक्कल को कोर्ट ने किया बरी

इस मामले में मुकदमा नवंबर 2019 में शुरू हुआ था और 10 जनवरी, 2022 को सुनवाई पूरी ह चुकी थी.

Updated
राज्य
1 min read
<div class="paragraphs"><p>फ्रैंको मुलक्कल बरी</p></div>

केरल (Kerala) की एक अदालत ने शुक्रवार, 14 जनवरी को जालंधर डायोसिस के बिशप फ्रैंको मुलक्कल (Bishop Franco Mulakkal) को 44 साल की नन से बलात्कार के आरोप में बरी कर दिया है.

फ्रैंको मुलक्कल पर आरोप लगाया गया था कि उन्होंने 2014 और 2016 के बीच कुरुविलंगड, कोट्टायम में मिशनरीज ऑफ जीसस कॉन्वेंट की नन के साथ बलात्कार किया था.

ADVERTISEMENT

फैसला सुनाए जाने से पहले कोट्टायम अतिरिक्त सत्र न्यायालय के बाहर पुलिस बल तैनात किया गया था.

इस मामले में मुकदमा नवंबर 2019 में शुरू हुआ था और 10 जनवरी, 2022 को सुनवाई पूरी ह चुकी थी.

मामले में पीड़िता ने आरोप लगाया था कि 2014 और 2016 के बीच कॉन्वेंट में अपनी यात्रा के दौरान फ्रैंको ने उनके साथ 13 बार बलात्कार किया था.

21 सितंबर 2018 को वहां पांच नन ने मिल कर विरोध प्रदर्शन शुरू किया था तब जा कर कहीं बिशप को बलात्कार के आरोप में गिरफ्तार किया गया था. हालांकि बिशप को 16 अक्टूबर 2018 को जमानत दे दी गई थी लेकिन 13 जुलाई 2020 को उनकी जमानत रद्द कर दी गई थी क्योंकि वह कई सुनवाई में उपस्थित नहीं हो पाए थे.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT