बोरिस जॉनसन ने किसानों के समर्थन में रद्द किया भारत दौरा,फेक न्यूज

पड़ताल में सामने आया कि बोरिस जॉनसन का भारत दौरा रद्द होने का किसान आंदोलन से कोई संबंध नहीं

Published
बोरिस जॉनसन ने किसानों के समर्थन में रद्द किया भारत दौरा,फेक न्यूज

सोशल मीडिया पर एक वायरल मैसेज में ये दावा किया जा रहा है कि ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने अपना भारत दौरा किसान आंदोलन के समर्थन में रद्द किया है.  वेबकूफ की पड़ताल में ये दावा फेक निकला. बोरिस जॉनसन ने अपना भारत दौरा कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन की वजह से रद्द किया है, किसान आंदोलन के समर्थन में नहीं.

दावा

वायरल ग्राफिक में ब्रिटेन के पीएम बोरिस जॉनसन की फोटो है. टेक्स्ट में लिखा है - किसान आंदोलन की अंतरराष्ट्रीय मंच पर बड़ी जीत. ब्रिटेन के पीएम ने गणतंत्र दिवस पर होने वाला भारतीय दौरा रद्द किया.

मैसेज ट्विटर के अलावा फेसबुक पर भी शेयर किया जा रहा है

बोरिस जॉनसन ने किसानों के समर्थन में रद्द किया भारत दौरा,फेक न्यूज
इस पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए <a href="https://perma.cc/N548-CAU9">यहां </a>क्लिक करें
इस पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें

पड़ताल में हमने क्या पाया

इंटरनेट पर ब्रिटेन के पीएम बोरिस जॉनसन का भारतीय दौरा रद्द होने से जुड़ी सभी प्रमुख मीडियो रिपोर्ट्स हमने चेक कीं. किसी भी रिपोर्ट में ये जिक्र नहीं है कि बोरिस जॉनसन ने किसान आंदोलन के समर्थन में दौरा रद्द किया.

रायटर्स की 5 जनवरी, 2021 की रिपोर्ट के मुताबिक, बोरिस जोनसन का भारत दौरा कोरोना के नए स्ट्रेन की वजह से रद्द हुआ. 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस समारोह में उन्हें भारत आमंत्रित किया गया था.

न्यूज एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक, सिंघू बॉर्डर पर प्रदर्शन कर रहे कुछ किसान नेताओं ने बयान दिया था कि वे ब्रिटिश पीएम से भारत न आने की गुजारिश करेंगे. लेकिन, रिपोर्ट में ये जिक्र कहीं नहीं है कि बोरिस जॉनसन ने इस बयान के जवाब में कोई बयान दिया या नहीं

बोरिस जॉनसन का दौरा रद्द होने को लेकर भारत सरकार की एजेंसी प्रेस इंफॉर्मेशन ब्यूरो ( PIB) ने 5 जनवरी को एक बयान जारी किया था. इस बयान के अनुसार, बोरिस जॉनसन ब्रिटेन में कोरोना संक्रमण की स्थिति के चलते भारत नहीं आ सके. जॉनसन ने पीएम मोदी से फोन पर बात कर बताया था कि वे भारत नहीं आ पाएंगे.

मतलब साफ है कि ब्रिटेन पीएम बोरिस जॉनसन ने अपना भारत दौरा किसान आंदोलन के समर्थन में नहीं, बल्कि ब्रिटेन में कोरोना संक्रमण की बिगड़ती स्थिति के चलते रद्द किया है. सोशल मीडिया पर किया जा रहा दावा हमारी पड़ताल में फेक निकला.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!