पाक अस्पताल में लगी आग का वीडियो हैदराबाद के नाम से हो रहा है शेयर

वीडियो में कई मरीज और उनके साथ मौजूद लोगों को मास्क पहने देखा जा सकता है

Published28 Jun 2020, 10:52 AM IST
वेबकूफ
3 min read

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें अस्पताल के मरीज बेड पर सड़कों और शेड के नीचे लेटे हुए हैं. वीडियो में दिख रहा है कि मरीजों के रिश्तेदार उनके आसपास खड़े हैं. दावा किया जा रहा है कि ये हैदराबाद के ओल्ड सिटी का है.

हालांकि, हमें पता चला है कि ये वीडियो हैदराबाद का नहीं, बल्कि पाकिस्तान के लाहौर का है और इसका कोरोना वायरस से कोई लेना-देना नहीं है.

ये दावा कोरोना वायरस के संदर्भ में किया जा रहा था. वीडियो में कई मरीज और उनके साथ मौजूद लोगों को मास्क पहने देखा जा सकता है.

दावा

पाक अस्पताल में लगी आग का वीडियो हैदराबाद के नाम से हो रहा है शेयर
(फोटो: वीडियो स्क्रीनग्रैब्स /अल्टर्ड बाई क्विंट)

वीडियो में दिखता है कि बड़ी संख्या में लोग एक इमारत के नीचे इंतजार कर रहे हैं. मरीजों के साथ खड़े लोग उनके लिए पंखा झल रहे हैं या उनकी पीठ सहला रहे हैं और मरीज परेशानी में दिखते हैं.

कई लोग, मरीज और उनके साथ मौजूद लोगों को मास्क पहने देखा जा सकता है. कम से कम एक शख्स को PPE किट जैसा कुछ पहने भी देख सकते हैं.

हमने पाया कि कई लोगों ने फेसबुक पर इस वीडियो को शेयर करते हुए लिखा, "ओल्ड सिटी (हैदराबाद) में खतरनाक स्थिति."

पाक अस्पताल में लगी आग का वीडियो हैदराबाद के नाम से हो रहा है शेयर
(फोटो: स्क्रीनशॉट/फेसबुक)
पाक अस्पताल में लगी आग का वीडियो हैदराबाद के नाम से हो रहा है शेयर
(फोटो: स्क्रीनशॉट/फेसबुक)

हमें क्या मिला?

वीडियो के कीफ्रेम पर Invid सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल कर रिवर्स इमेज सर्च चलाने पर हमें एक आर्टिकल मिला, जिसमें इस वीडियो के विज़ुअल मिले और उसमें दावा किया गया कि ये मरीज लाहौर के एक अस्पताल के बाहर इंतजार कर रहे हैं. इस अस्पताल में आग लग गई थी और ये कोरोना वायरस पॉजिटिव नहीं थे.

इसके बाद हमने लाहौर के अस्पताल में आग लगने की न्यूज रिपोर्ट्स ढूंढी और हमें पाकिस्तानी टीवी न्यूज चैनल Samaa.TV की एक रिपोर्ट मिली. इसमें पुष्टि हुई कि 13 जून को लाहौर के सर्विसेज अस्पताल के सर्जिकल इमरजेंसी वॉर्ड में आग लगी थी.

आग लगने की वजह से उस वॉर्ड में मौजूद 40 मरीजों को बाहर निकाला गया था और उन्हें दूसरे वॉर्ड में शिफ्ट किया गया. रिपोर्ट में मौजूद वीडियो में दिखता है कि मरीजों को बाहर निकाला जा रहा था और खुले में लाया गया.

हमें इसी घटना के बारे में पाकिस्तानी न्यूज आउटलेट द एक्सप्रेस ट्रिब्यून का एक ट्वीट भी मिला.

पत्रकार मदीहा आबिद अली ने ट्विटर पर लोगों के इस घटना की तस्वीरें और वीडियो को कोरोना वायरस के संदर्भ में शेयर करने को फेक न्यूज बताया. मदीहा ने एक सेलिब्रिटी के खिलाफ भी लिखा, जिन्होंने इस वीडियो को कोरोना वायरस से जोड़ते हुए शेयर किया था.

आखिर में हमने एक गूगल यूजर की सर्विसेज अस्पताल लाहौर की अपलोड की हुई फोटो और वायरल वीडियो के विजुअल की तुलना की. ये दोनों मैच हुए.

पाक अस्पताल में लगी आग का वीडियो हैदराबाद के नाम से हो रहा है शेयर
(फोटो: अल्टर्ड बाई क्विंट) 

इससे ये साफ होता है कि लाहौर के अस्पताल के वीडियो को गलत तरीके से हैदराबाद की बता कर शेयर किया गया.

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर को और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!