ADVERTISEMENT

Udaipur: आरोपियों को राहुल गांधी ने नहीं कहा 'बच्चे', Zee News के दावों का सच

Zee News ने राहुल गांधी के बयान के अलग-अलग हिस्से एडिटिंग के जरिए जोड़कर किया गलत दावा

Published
Udaipur: आरोपियों को राहुल गांधी ने नहीं कहा  'बच्चे', Zee News के दावों का सच
i

(ये स्टोरी पहले बार क्विंट की वेबकूफ टीम ने 2 जुलाई दोपहर 1:32 बजे पब्लिश की थी. मामले में राहुल गांधी का वीडियो गलत दावे से शेयर करने के आरोप में जी न्यूज के एंकर रोहित रंजन पर एफआईआर होने पर हमने स्टोरी को दोबारा पब्लिश किया है)

राजस्थान के उदयपुर में हुए हत्याकांड (Udaipur Murder) से जोड़कर कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) का एक वीडियो Zee News समेत कई सोशल मीडिया यूजर्स ने शेयर किया है. वीडियो में राहुल गांधी देश के हालात के लिए पीएम नरेंद्र मोदी और बीजेपी को जिम्मेदार बताते हुए सुने जा सकते हैं. वीडियो में आगे वो कहते हैं कि जिन बच्चों ने ये काम किया है. वो गैर जिम्मेदाराना है, लेकिन वो इन 'बच्चों' से नाराज नहीं है.

ADVERTISEMENT
उदयपुर में मंगलवार 28 जून को दो युवकों ने कथित तौर पर नूपुर शर्मा के समर्थन में सोशल मीडिया पर पोस्ट डालने पर टेलर कन्हैयालाल का मर्डर कर दिया. पुलिस ने दोनों आरोपियों मोहम्मद गौस और रियाज को गिरफ्तार कर लिया है. दोनों राजसमंद के भीम इलाके से गिरफ्तार किए गए थे.

हालांकि, पड़ताल में हमने पाया कि राहुल गांधी का ये बयान उदयपुर में हुई हत्या से जुड़ा नहीं है. राहुल गांधी 1 जून को केरल में थे, जहां उन्होंने 24 जून को उनके लोकसभा क्षेत्र वायनाड स्थित कांग्रेस के ऑफिस में हुए हमले को लेकर ये बयान दिया था. उन्होंने SFI के उन कार्यकर्ताओं को बच्चा बताते हुए माफ करने की बात की थी, जिन्होंने कांग्रेस के ऑफिस में तोड़फोड़ की थी.

ADVERTISEMENT

दावा

Zee News पर 1 जून 2022 को रात 9 बजे आने वाले शो DNA में राहुल गांधी का वीडियो इस्तेमाल किया गया. साथ ही, एंकर रोहित रंजन को ये कहते सुना जा सकता है, ''आज इस कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने एक चौकाने वाला बयान दिया है. राहुल गांधी का बयान हैरान करने वाला है, क्योंकि उन्होंने उदयपुर हत्याकांड के आरोपियों को बच्चा बताते हुए कहा कि वो उनसे नाराज नहीं हैं और वो इस घटना के लिए मोदी सरकार को जिम्मेदार बताते हैं.''

पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें

(सोर्स: स्क्रीनशॉट/फेसबुक)

राहुल गांधी का ये वीडियो कन्नौज से बीजेपी सांसद सुब्रत पाठक ने भी ऐसे ही दावे से शेयर किया है.

पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें

(सोर्स: स्क्रीनशॉट/ट्विटर)

सोशल मीडिया पर कई यूजर्स ने राहुल गांधी और Zee News के वीडियो की क्लिप शेयर की है. इनके आर्काइव आप यहां, यहां और यहां देख सकते हैं.

बता दें कि बाद में Zee News ने खबर को गलत संदर्भ में प्रसारित करने के लिए खेद जताया है.

ADVERTISEMENT

पड़ताल में हमने क्या पाया

वीडियो में राहुल गांधी की स्पीच से जुड़े कीवर्ड इस्तेमाल कर हमने गूगल पर सर्च किया. हमें 1 जुलाई 2022 को Economics Times पर पब्लिश एक रिपोर्ट मिली. इस रिपोर्ट में वायरल वीडियो का छोटा सा हिस्सा देखा जा सकता है.

रिपोर्ट की हेडलाइन (अनुवादित) थी, 'राहुल गांधी ने वायनाड स्थित अपने ऑफिस का किया दौरा, SFI एक्टिविस्ट्स को 'गैरजिम्मेदाराना हरकत' के लिए किया माफ'

ये रिपोर्ट 1 जुलाई 2022 को पब्लिश हुई थी.

(सोर्स: स्क्रीनशॉट/Economics Times)

रिपोर्ट के मुताबिक, राहुल गांधी ने स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (SFI) कार्यकर्ताओं को 'बच्चे' बताते हुए कहा था कि वो उन पर गुस्सा नहीं हैं.

इसके अलावा, हमें Indian Express की भी एक रिपोर्ट मिली. रिपोर्ट में राहुल गांधी के बयान के बारे में बताया गया था कि उन्होंने उनके ऑफिस पर हमला करने वालों को बच्चे कहते हुए माफ कर दिया है.

ADVERTISEMENT

हमें News 18 Kerala के ऑफिशियल यूट्यूब हैंडल पर राहुल गांधी के बयान का पूरा वीडियो मिला. इसे 2 जुलाई 2022 को पोस्ट किया गया था.

वीडियो के 1 मिनट 11वें सेकेंड पर राहुल गांधी को उनके ऑफिस में तोड़फोड़ से जुड़े सवाल का जवाब देते हुए सुना जा सकता है. वो कहते हैं:

ये ऑफिस, मेरा ऑफिस होने से पहले वायनाड के लोगों का ऑफिस है. जो भी हुआ है वो दुर्भाग्यपूर्ण है. पूरे देश में ये विचार फैलते आप देख सकते हैं कि हिंसा से समस्याएं सुलझती हैं, लेकिन हिंसा से समस्याएं नहीं सुलझतीं. जिन बच्चों ने ये किया है, वो सही नहीं किया है. उन्होंने गैरजिम्मेदाराना हरकत की है. मुझे उन पर कोई गुस्सा या उनसे कोई दुश्मनी नहीं है. उन्होंने बेवकूफी भरा काम किया है. हमें इसे भूल जाना चाहिए. मुझे नहीं लगता कि इन बच्चों को इसका असर पता है. इसलिए उन्हें माफ कर देना चाहिए.
राहुल गांधी, वायनाड में पत्रकारों से बात करते हुए
ADVERTISEMENT

इसके बाद, एक पत्रकार ने राहुल से नूपुर शर्मा-पैगंबर मोहम्मद विवाद को लेकर 1 जुलाई को की गई सुप्रीम कोर्ट की टिप्प्णी को लेकर सवाल पूछा. पत्रकार ने पूछा कि सुप्रीम कोर्ट ने नूपुर को उदयपुर सहित देश के अलग-अलग हिस्सों में हुई घटनाओं को लेकर जिम्मेदार बताया है. इसे आप किस तरह से देखते हैं. जवाब में राहुल ने कहा:

सुप्रीम कोर्ट ने ऐसा कहा है ये सच है. लेकिन, ये सिर्फ उस शख्स की बात नहीं है जिसने ऐसी टिप्पणी की है. देश में नफरत और गुस्से का ऐसा माहौल पीएम, गृहमंत्री, बीजेपी और RSS ने बनाया है. देश में ऐसा माहौल बनाना एक देश विरोधी कृत्य है.

राहुल आगे कहते हैं कि ऐसा माहौल इंडिया और इंडिया के लोगों के खिलाफ है.

ADVERTISEMENT

जहां News 18 Kerala के वीडियो में राहुल गांधी पहले उनके ऑफिस में तोड़फोड़ करने वालों की बात करते नजर आ रहे हैं और उसके बाद देश के माहौल को बिगाड़ने के लिए पीएम और बीजेपी को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं.

वहीं Zee News के वीडियो में देश के माहौल से जुड़े उनके बयान को वीडियो के पहले हिस्से में रखा गया है और उनके ऑफिस में तोड़फोड़ करने वाले लोगों को 'बच्चा' कहने वाले बयान को बाद में रखा गया है.

साथ ही, वीडियो से वो हिस्सा हटा दिया गया है जिसमें पत्रकार ऑफिस में तोड़फोड़ से जुड़ा सवाल पूछ रहा है और राहुल गांधी अपने ऑफिस को लोगों का ऑफिस बताते नजर आ रहे हैं.

बता दें कि ये वीडियो DNA India वेबसाइट पर भी अपलोड किया गया है. जहां ये बताया गया है कि राहुल गांधी उनके ऑफिस में तोड़फोड़ करने वालों के बारे में बात कर रहे हैं.

ADVERTISEMENT

मतलब साफ है कि Zee News ने राहुल गांधी के बयान को तोड़-मरोड़ कर और वीडियो के साथ छेड़खानी कर इस गलत दावे से चलाया कि उन्होंने उदयपुर हत्याकांड के आरोपियों को 'बच्चे' कहा है. जबकि राहुल गांधी ने उनके ऑफिस में तोड़फोड़ करने वालों के लिए ये बयान दिया था.

(अगर आपके पास भी ऐसी कोई जानकारी आती है, जिसके सच होने पर आपको शक है, तो पड़ताल के लिए हमारे वॉट्सऐप नंबर 9643651818 या फिर मेल आइडी webqoof@thequint.com पर भेजें. सच हम आपको बताएंगे. हमारी बाकी फैक्ट चेक स्टोरीज आप यहां पढ़ सकते हैं)

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी पर लेटेस्ट न्यूज और ब्रेकिंग न्यूज़ पढ़ें, news और webqoof के लिए ब्राउज़ करें

टॉपिक:  Rahul Gandhi   Webqoof   Udaipur Murder 

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
×
×