वेबकूफ: क्या पाकिस्तान पुलिस ने की हिंदुओं की बेरहमी से पिटाई?

जानिए हिंदुओं पर अत्याचार करने के पकिस्तान पुलिस का पूरा सच

Published07 Jan 2019, 05:14 PM IST
वेबकूफ
2 min read

इन दिनों सोशल मीडिया पर पाकिस्तान पुलिस का एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है. वायरल वीडियो में दावा है कि पाकिस्तान पुलिस वहां के माइनॉरिटी के साथ जुल्म कर रही है. उनके साथ बुरी तरह से मारपीट कर रही है.

भा.ज.पा : Mission 2019 नाम से बने फेसबुक पेज पर वीडियो को शेयर किया गया है जिसे अब तक 104 मिलियन लोग देख चुके हैं. इस पोस्ट में दावा किया गया है कि पाकिस्तान पुलिस वहां के हिंदुओं को बेरहमी के साथ मार रही है. 200 सेकेंड के इस वीडियो को फेसबुक पेज शेयर करते हुए लिखा गया है, “इस वीडियो को देखने के बाद आपकी भी आंखे भर जाएंगी ,हो सके तो कुछ और लोगों को जगा देना.”

इस विडियो को देखने के बाद आपकी भी आँखे भर जायेगी ,हो सके तो कुछ और लोगो को जगा देना

Posted by भा.ज.पा : Mission 2019 on Wednesday, January 2, 2019

इस वीडियो को 2 जनवरी को फेसबुक पर शेयर किया गया था. वीडियो में साफ तौर से दिख रहा है कि कुछ पुलिस के जवान एक घर पर हमला कर एक आदमी को खींचते हुए घर से बाहर निकालते हैं. पीछे से एक महिला के चीखने की भी आवाज सुनाई दे रही है.

इस वीडियो को We Support Hindutva, Narendra Modi PM 2019, नमो समर्थक, बजरंग दल – चौमूं नगर, जैसे कई फेसबुक पेज पर भी शेयर किया गया है. सभी पोस्ट में ये लिखा है कि देखो पाकिस्तान में हिंदुओं के साथ क्या हो रहा है.

इस विडियो को देखने के बाद आपकी भी आँखे भर जायेगी ,हो सके तो कुछ और लोगो को जगा देना

Posted by बजरंग दल - चौमूं नगर on Wednesday, January 2, 2019

इस विडियो को देखने के बाद आपकी भी आँखे भर जायेगी ,हो सके तो कुछ और लोगो को जगा देना

Posted by बजरंग दल - चौमूं नगर on Wednesday, January 2, 2019

मामला सच या झूठ?

इस वीडियो की पड़ताल करने पर पता चला कि यह वीडियो साल 2013 की है. इसे पाकिस्तान के फैसलाबाद में इलेक्ट्रिसिटी की समस्या को लेकर हो रहे प्रदर्शन को दौरान शूट किया गया था. उस दौरान वहां पर भीड़ हिंसक हो गई थी. इसका किसी जातीय या धार्मिक हिंसा से कोई लेना देना नहीं है.

इस घटना की वीडियो आपको सोशल मीडिया पर आसानी से मिल जाएगी
इस घटना की वीडियो आपको सोशल मीडिया पर आसानी से मिल जाएगी
(फोटो: Screenshot of the reverse search)

RozeTV, DunyaNews, और Tribune जैसी कई जगहों पर इस घटना की खबर छपी थी. खबरों के मुताबिक इस घटना में 5 पुलिसवालों को सस्पेंड भी किया गया था. इस वीडियो को इससे पहले भी कई बार इसी दावे के साथ शेयर किया जा चुका है कि पाकिस्तान में हिंदुओं के साथ जुल्म हो रहा है.

पड़ताल करने पर पता चला कि इस वीडियो को कई बार पाकिस्तान में माइनॉरिटी अत्याचार के नाम पर शेयर किया गया है. हाल ही के दिनों में कई बार इस वीडियों को यह बताते हुए भी शेयर किया गया है कि पाकिस्तान पुलिस क्रिश्चियन लोगों के साथ जुल्म कर रही है.

इस तरह हमारी पड़ताल में पाकिस्तान में पाकिस्तान पुलिस का हिंदुओं पर जुल्म करने का दावा झूठा निकला.

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!