लंदन अटैक:आरोपी की जड़ें PoK में,मुंबई जैसे हमले की भी थी साजिश
लदंन आतंकी हमले के आरोपी को जज ने बताया था पब्लिक के लिए जोखिम
लदंन आतंकी हमले के आरोपी को जज ने बताया था पब्लिक के लिए जोखिम(फोटो: AP)

लंदन अटैक:आरोपी की जड़ें PoK में,मुंबई जैसे हमले की भी थी साजिश

ब्रिटेन के लंदन ब्रिज पर 29 नवंबर को हुए आतंकी हमले का आरोपी उस्मान खान यूके में मुंबई जैसा हमला करने की भी साजिश रच चुका है. 2012 में उसे आतंकवाद के एक मामले में शामिल होने पर 7 साल की सजा सुनाई गई थी. खान परोल पर बाहर था.

Loading...

उस्मान खान 2010 में क्रिसमस जुलूस के दौरान लंदन में हाई-प्रोफाइल हमले करने की साजिश रचने वाले नौ दोषियों में शामिल था. उस समय सभी लोगों को अलकायदा से प्रेरित समूह बताया गया था, जो अलग-अलग स्थानों पर बम भेजकर 'मुंबई' जैसा हमला करना चाहते थे.

उस समय बचाव पक्ष के एक व्यक्ति के घर पर टारगेट किए जाने वाली जगहों की एक लिस्ट बरामद हुई थी, जिसमें उस समय लंदन के मेयर और वर्तमान में ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन, अमेरिकी हाई कमीशन और स्टॉक एक्सचेंज के नाम और पते शामिल थे.

डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक, ब्रिटेन की पुलिस के जिस आतंकवाद-रोधी अभियान में इन लोगों को गिरफ्तार किया गया, वह 2010 का सबसे बड़ा अभियान था.

जज ने खान को बताया था पब्लिक के लिए जोखिम

उस्मान खान को सात साल पहले लंदन स्टॉक एक्सचेंज में बम रखने की साजिश रचने और पीओके में अपने परिवार की जमीन पर आतंकी ट्रेनिंग कैंप चलाने के लिए सजा सुनाई गई थी. 2012 में आतंकवाद के अपराधों के लिए सजा सुनाने वाले जज ने उस्मान खान को पब्लिक के लिए जोखिम बताया था.

स्कॉटलैंड यार्ड के काउंटर टेररिज्म पुलिसिंग के असिस्टेंट कमिश्नर नील बसु ने शनिवार को बताया कि आतंकी अपराध का दोषी उस्मान खान को दिसंबर 2018 में जमानत मिल गई थी.

अब हम संदिग्ध की पहचान की पुष्टि करने की स्थिति में हैं. उसकी पहचान उस्मान खान के रूप में हुई है जो स्टैंडफोर्डशायर क्षेत्र में रहता था. हमलावर को आतंकी गतिविधियों में शामिल होने के कारण 2012 में दोषी ठहराया गया था, जिसे दिसंबर 2018 में जेल से रिहा कर दिया गया
असिस्टेंट पुलिस कमिश्नर नील बसु

उन्होंने बताया कि अब इस बात की जांच की जा रही है कि उस्मान खान ने कैसे इस हमले को अंजाम दिया.

IS ने ली हमले की जिम्मेदारी

आतंकी संगठन की न्यूज एजेंसी अमाक ने शनिवार को खुलासा किया कि 28 वर्षीय हमलावर उस्मान खान, इस्लामिक स्टेट के लड़ाकों में से एक था. इस्लामिक स्टेट ने बिना कोई सबूत दिए कहा कि ये हमला जिहादी संगठन के खिलाफ लड़ने वाले एकजुट देशों के नागरिकों को निशाना बनाने के लिए और उन्हें सबक सिखाने के लिए किया गया था.

जारी बयान के में कहा गया है, ‘लंदन हमले को अंजाम देने वाला व्यक्ति... इस्लामिक स्टेट का एक लड़ाका था और उसने गठबंधन के देशों के नागरिकों को निशाना बनाने के लिए ऐसा किया.’

ये भी पढ़ें : लंदन आतंकी हमले के बाद ब्रिटेन के प्रधानमंत्री का कड़ी कार्रवाई करने का संकल्प

कौन है उस्मान खान?

डॉन न्यूज ने द टेलीग्राफ के हवाले से बताया कि खान ब्रिटेन में पैदा हुआ पाकिस्तानी मूल का नागरिक था. खान ने अपना टीनेज का समय पाकिस्तान में बिताया, जहां वो अपनी बीमार मां के साथ रहता था.

इंग्लैंड लौटने पर उसने इंटरनेट पर कट्टरपंथी विचारधारा का प्रचार शुरू कर दिया और आईएस में कई महत्वपूर्ण लोगों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया.

(IANS के इनपुट्स के साथ)

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Follow our दुनिया section for more stories.

    Loading...