यूक्रेन प्लेन हादसा: ईरान में प्रदर्शन,पुलिस पर गोली चलाने का आरोप

सोशल मीडिया पर राजधानी तेहरान में चल रहे प्रदर्शनों की कई वीडियो वायरल हो रही हैं

Updated13 Jan 2020, 11:38 AM IST
दुनिया
3 min read

ईरान में यूक्रेन के प्लेन को गिराए जाने के बाद से प्रदर्शन जारी हैं. सोशल मीडिया पर राजधानी तेहरान में चल रहे प्रदर्शनों की कई वीडियो वायरल हो रही हैं. इनमें से कुछ वीडियो में गोली की आवाज सुनाई देती है और खून दिखता है. लोगों का दावा है कि प्रदर्शन के दौरान पुलिस ने गोली चलाई है. वहीं, पुलिस इस बात से इनकार कर रही है.

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने रविवार 12 जनवरी को ट्वीट कर ईरानी अधिकारियों से कहा था, "अपने प्रदर्शनकारियों को मत मारिए."

ईरान के यूक्रेनियन पैसेंजर प्लेन को गिराए जाने की गलती मानने के बाद से तेहरान में प्रदर्शन हो रहे हैं. इस हादसे में 176 लोगों की मौत हो गई थी. ईरान पहले प्लेन को गिराए जाने से इनकार करता रहा था. जब ईरानी मिलिट्री ने इस बात को माना तो लोग सड़कों पर आ गए.  

रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक, रविवार 12 जनवरी को सोशल मीडिया पर इन प्रदर्शन की कई वीडियो पोस्ट की गई. कुछ वीडियो में तेहरान के आजादी स्क्वायर के नजदीक प्रदर्शन में गोली चलने को रिकॉर्ड किया गया. वीडियो में जमीन पर खून भी दिख रहा है और घायलों को ले जाते हुए भी देखा जा सकता है.

कई वीडियो में रायट पुलिस को प्रदर्शनकारियों को खदेड़ते हुए देखा जा सकता है.

एक वीडियो में आंसू गैस के गोले से बचने की कोशिश कर रहे लोग खांस रहे हैं. उसमें एक महिला फारसी जुबान में कहती हुई नजर आ रही है, ‘‘ उन्होंने लोगों पर आंसू गैस के गोले दागे, आजादी स्क्वायर, तानाशाह मुर्दाबाद.’’

एक और वीडियो में एक महिला को ले जाया जा रहा है और नीचे जमीन पर खून के छींटे नजर आ रहा है. वीडियो में दिख रहा है कि इस महिला के आसपास लोग चिल्ला रहे हैं कि उसके पैर में गोली मार दी गई. इसी वीडियो में एक व्यक्ति चिल्लाता हुआ नजर आ रहा है, ‘‘उसका खून लगातार बह रहा है.’’ वीडियो में एक और शख्स ये कहता हुआ नजर आ रहा है, ‘पट्टी करो.’’

"ईरान ने प्लेन हादसे को लेकर कहानी नहीं बनाई"

ईरान की सरकार ने 13 जनवरी को यूक्रेन के प्लेन को गिराए जाने को लेकर 'कहानियां बनाने' के आरोपों से इनकार किया है. सरकार का ये बयान तेहरान में चल रहे प्रदर्शनों के बीच आया है. सरकार के प्रवक्ता ने कहा, " झूठ बोलने का मतलब होता है सच को तोड़-मरोड़ के पेश करना. कुछ अधिकारियों पर झूठ बोलने और कहानियां गढ़ने का आरोप लगा है. लेकिन ऐसा कुछ नहीं है."

ईरान ने मानी थी गलती

कई बार इनकार करने के बाद ईरान ने यूक्रेनियन प्लेन को गिराए जाने की बात मान ली है. राष्ट्रपति हसन रूहानी ने ट्वीट कर कहा, ''सैन्य बलों की आंतरिक जांच इस खेदजनक नतीजे पर पहुंची है कि मानवीय गलती के चलते छोड़ी गईं मिसाइल यूक्रेनियन विमान के क्रैश और 176 निर्दोष लोगों की मौत का कारण बनीं. इस माफ ना की जा सकने वाली गलती और बड़ी त्रासदी के मामले में जांच जारी है.''

इसके अलावा सरकारी टीवी पर प्रसारित हुए एक बयान में ईरानी सेना ने कहा, ’इस हफ्ते की शुरुआत में ईरान में यूक्रेन का जो विमान क्रैश हुआ था, वो रिवॉल्यूशनरी गार्ड्स से जुड़े संवेदनशील सैन्य ठिकाने के पास उड़ रहा था. मानवीय गलती के चलते इस विमान को बिना किसी इरादे के मार गिरा दिया गया था.’’

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 13 Jan 2020, 10:33 AM IST
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!