कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर आपसे जुड़ी हर वो बात जो जानना जरूरी है

वैक्सीनेशन को लेकर कई सारे सवाल है जिनके जवाब आपको जानना ही चाहिए

कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर आपसे जुड़ी हर वो बात जो जानना जरूरी है

इस साल की सबसे बड़ी खुशखबरी है- देश के लिए 'कोरोना वैक्सीन' और इस वैक्सीन को देने की प्रक्रिया 16 जनवरी से शुरू होने वाली है. भारत कोविड-19 के खिलाफ सबसे बड़ा इम्यूनाइजेशन प्रोग्राम शुरू करने के लिए तैयार है. तो वैक्सीन दिए जाने की प्रक्रिया शुरू हो उसके पहले कई सारे सवाल है जिनके जवाब आपको जानना ही चाहिए.

वैक्सीन के आम लोगों तक पहुंचने की प्रक्रिया क्या होगी? कौन से डॉक्यूमेंट जरूरी होंगे? साइट पर कैसे पहुंचेगी वैक्सीन, आपको किन नियमों का पालन करना है? इसके अलवा ये सवाल भी अहम हैं कि वैक्सीनेशन रोलआउट करने के पहले टेस्टिंग और ट्रेसिंग का क्या महत्व है? सरकार को किस रणनीति पर काम करना चाहिए और सबसे अहम ये कि सरकार को वैक्सीन के प्रति भरोसा जगाने के लिए क्या करना चाहिए?

भारत का वैक्सीन डिस्ट्रीब्यूशन नेटवर्क करनाल, मुंबई, चेन्नई और कोलकाता में 4 सरकारी मेडिकल स्टोर डिपो (GMSD) के जरिये संचालित होता है. ये सरकारी डिपो वैक्सीन मैन्यूफैक्चरर से वैक्सीन खरीदता है. मिंट की रिपोर्ट के मुताबिक 53 स्टेट वैक्सीन स्टोर GMSD से या सीधे मैन्यूफैक्चरर से वैक्सीन प्राप्त करते हैं. स्टेट वैक्सीन स्टोर फिर इन्सुलेटेड वैन के जरिये क्षेत्रीय, जिला और उप-जिला स्तर के कोल्ड चेन पॉइंट तक वैक्सीन का वितरण करते हैं.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!