दिल्ली हर साल होती है ‘पानी-पानी’, आखिर किसकी है कारस्तानी?

दिल्ली के अर्बन प्लानिंग की खामियों की वजह से जो आपदा आई है उस पर आज बिग स्टोरी में बात करेंगे.

Published20 Jul 2020, 05:28 PM IST
पॉडकास्ट
1 min read

19 जुलाई से आप एक वीडियो सोशल मीडिया और टीवी पर ज़रूर देख रहे होंगे जिसमें एक नाले का पानी इतना उफान पर दिखता है कि आसपास बने मकानों को भी बहाकर अपने साथ ले जाता है. लेकिन ये वीडियो बिहार या फिर असम की बाढ़ का नहीं है. बल्कि राजधानी दिल्ली में कुछ घंटे हुई बारिश के बाद का है. दिल्ली में बिहार, ओडिशा या फिर असम की तरह नदियों का पानी बाढ़ का रूप नहीं लेता, बल्कि यहां तो बारिश का पानी सड़कों पर, गलियों में और हर जगह जमा होता है. जिसके बाद धीरे-धीरे इसका रूप बदलता है और ये एक छोटी बाढ़ की तरह खतरनाक हो जाता है.

ये सब इसलिए होता आ रहा है क्योंकि दिल्ली में सिर्फ बस्तियां बसाने पर जोर दिया गया, लेकिन ड्रेनेज सिस्टम पर कभी किसी ने ध्यान ही नहीं दिया. जबकि एक बारिश में पानी-पानी होने वाली यही दिल्ली स्मार्ट सिटी बनने की लिस्ट में शामिल है.

दिल्ली के इंफ्रास्ट्रक्चर बनाने के लिए कौन, या यूं कहिये कि कौन कौन ज़िम्मेदाए हैं? अर्बन प्लानिंग की खामियों की वजह से जो आपदा आई है उस पर आज बिग स्टोरी में बात करेंगे.

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!