ADVERTISEMENT

न्यू इयर 2022: कैसे बनाएं खुद के लिए 'मुबारक' इस नए साल को?

उर्दूनामा के इस एपिसोड में हम उर्दू शायरी के माध्यम से 'मुबारक' यानी 'शुभ' का विषय समझने की कोशिश कर रहे हैं.

Published
<div class="paragraphs"><p>मुबारक का अर्थ है शुभ, और यही नए साल की शुरुआत करने का तरीका होना चाहिए</p></div>
i

मुबारक का अर्थ है शुभ, और यही नए साल की शुरुआत करने का तरीका होना चाहिए. उर्दू शायरी में इस शब्द का इस्तेमाल अक्सर ताने मारने के तौर पर किया जाता है. मसलन शकील बदायुनी के इस शेर में शायर अपने मेहबूब की ग़फ़लत यानी भुलक्कड़ी की शिकायत कर रहा है.

ये अदा-ए-बे-नियाज़ी तुझे बेवफ़ा मुबारक

मगर ऐसी बे-रुखी क्या की सलाम तक न पहुंचे

उर्दूनामा के इस एपिसोड में सुनिए ऐसे और कई तरीकों के बारे में जिनके माध्यम से कवियों ने अपने मुबारक पलों का इज़हार किया है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT