नेपाल में सत्ता की बदलती तस्वीर का क्या होगा भारत पर असर?

नेपाल में बदलते राजनीतिक हालात भारत पर क्या असर डालेंगे? सुनिए पॉडकास्ट 

Published02 Jul 2020, 08:11 AM IST
पॉडकास्ट
1 min read

पिछले कई हफ्तों से सरहद पर विवाद के चलते तमाम निगाहें चीन के साथ हमारे तल्ख होते रिश्तों पर है लेकिन भारत का एक और पड़ोसी तनाव में है. तनाव तो उसकी अंदरूनी वजहों से है लेकिन उसका असर भारत के साथ उसके रिश्तों पर भी सीधे तौर पर पड़ता दिख रहा है. वो देश है- नेपाल. नेपाल को अब तक हम पहाड़ों में बसे एक छोटे से दोस्त देश की तरह देखते आए लेकिन पिछले कुछ महीनों से वहां राष्ट्रवाद की आड़ में भारत का विरोध सियासी हथियार जैसा बन गया है.

आलम ये है कि हमारे टेरीटोरियल क्लेम्स को नजरअंदाज करते हुए, नेपाल के हाउस ऑफ़ रेप्रेसेंटेटिव्स ने 13 जून को देश के नए मैप को मंजूरी दे दी, जिसमें भारत के हिस्से - कालापानी, लिपुलेख और लिंपियाधुरा- को उसने अपने मैप में शामिल कर लिया. ताजा खबर ये है कि नेपाल में एंटी-इंडिया कैंपेन चलाने वाले प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली की कुर्सी पर खतरा मंडरा रहा है. लेकिन इस बड़ी खबर के सुनते ही जो बड़ा सवाल दिल में आता है वो ये कि नेपाल में बदलते राजनीतिक हालात भारत पर क्या असर डालेंगे? इसी मुद्दे पर बात करेंगे आज इस पॉडकास्ट में.

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!