शशिकला और पन्नीरसेल्वम (फोटो: द क्विंट)
| 1 मिनट में पढ़िए

AIADMK में वर्चस्व की लड़ाई,अब पन्नीरसेल्वम ने शशिकला को निकाला

एआईएडीएमके में वर्चस्व की जंग अभी थमी नहीं है. शशिकला के जेल जाने के बाद, पलनीसामी और ओ. पन्नीरसेल्वम गुट एक दूसरे के खिलाफ कार्रवाई कर रहे हैं.

शुक्रवार को ओ पन्नीरसेल्वम गुट ने शशिकला और उनके दो रिश्तेदारों को पार्टी से निकाल दिया जबकि मुख्यमंत्री पलनीसामी समेत 13 जिला सचिवों को बर्खास्त कर दिया.

पार्टी के अध्यक्ष मंडल के चेयरमैन पद से हटाए गए ई मदुसूदनन ने एक बयान जारी कर कहा कि

शशिकला ने दिवंगत जयललिता से वादा किया था कि वो राजनीति में नहीं आएंगी न ही सरकार या पार्टी का हिस्सा बनने में उनकी कोई दिलचस्पी है. उन्होंने इस वादे का उल्लंघन किया है.

इससे पहले मंगलवार को शशिकला ने पन्नीरसेल्वम और उनके कुछ समर्थकों को पार्टी से बर्खास्त कर दिया था.

खास बात ये है कि पलनीसामी के सीएम बनने के ठीक एक दिन बाद ये कार्रवाई की गई है. गवर्नर ने पलनीसामी को फ्लोर टेस्ट के लिए 15 दिन का वक्त दिया था. बताया जा रहा है कि पलनीसामी शनिवार को विधानसभा में बहुमत साबित करेंगे.

आय से अधिक संपत्ति मामले में शशिकला बेंगलुरु की जेल में सजा काट रही हैं. 66 करोड़ के आय से अधिक संपत्ति मामले में सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें दोषी ठहराते हुए 4 साल की सजा सुनाई थी.