वर्ल्ड नंबर-1 बॉक्सर पंघल का लक्ष्य,ओलंपिक तक करनी होगी कड़ी मेहनत

अमित पंघल ने वर्ल्ड चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल हासिल किया था

Published
अन्य खेल
1 min read
अमित पंघल वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचने वाले पहले भारतीय बने
i

अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) के टास्क फोर्स की ओर से ओलंपिक क्वालीफायर से पहले नंबर-1 रैंक से नवाजे गए भारतीय मुक्केबाज अमित पंघल ने कहा है कि टोक्यो ओलंपिक खेलों में मेडल जीतने की रेस में बने रहने के लिए उन्हें कड़ी मेहनत जारी रखनी होगी.

वर्ल्ड चैंपियनशिप में पुरुषों के 52 किलोग्राम भारवर्ग में ऐतिहासिक सिल्वर मेडल जीतने वाले पंघल 420 अंकों के साथ पहले स्थान पर हैं.

पंघल ने आईएएनएस से कहा,

“क्वालीफायर के लिए नंबर-1 रैंकिंग दिए जाने से मैं काफी खुश हूं. यह मुझे भविष्य में होने वाले टूर्नामेंट्स में बेहतर करने के लिए और प्रेरित करेगी.”

उन्होंने कहा, "मुझे अपने खेल को लेकर आश्वस्त रहना होगा और लगातार कड़ी मेहनत करनी होगी. उम्मीद है कि मैं अपने देश के लिए अच्छा प्रदर्शन कर पाऊंगा."

2019 में पंघल ने शानदार प्रदर्शन किया. इस दौरान उन्होंने स्ट्रांजा मेमोरियल, एशियन चैंपियनशिप समेत कई बड़े टूर्नामेंट्स में गोल्ड मेडल अपने नाम किया था.

24 साल के पंघल अपने भारवर्ग में 10 साल में पहले ऐसे भारतीय मुक्केबाज हैं, जिन्होंने पहला स्थान हासिल किया हो. उनसे पहले विजेंदर सिंह 2009 में 75 किलोग्राम भारवर्ग में पहले नंबर पर थे.

एशियाई ओलंपिक क्वालीफायर जॉर्डन में तीन से 11 मार्च के बीच खेला जाना है. पहले यह टूर्नामेंट चीन के वुहान में तीन से 14 फरवरी के बीच खेला जाना था, लेकिन चीन में फैले कोरोनावायरस के कारण इसे जॉर्डन में शिफ्ट कर दिया गया.

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!