IND Vs ENG: कोहली,पुजारा,ईशांत...मोटेरा में पिंक बॉल से कौन चमकेगा

अब तक 1-1 की बराबरी पर चल रही श्रृंखला

Published
अब तक 1-1 की बराबरी पर चल रही श्रृंखला
i

भारत और इंग्लैंड के बीच चली रही 4 टेस्ट मैचों की सीरीज का तीसरा मैच अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में खेला जाएगा. अब तक 1-1 की बराबरी पर चल रही इस श्रृंखला का पिंक बॉल Pink Ball मैच काफी अहम है, क्योंकि यह दुनिया के सबसे बड़े स्टेडियम में खेला जाएगा. आइए जानते हैं क्या कुछ दिख सकता है इस मैच में...

स्नैपशॉट
  • भारतीय जमीन पर दूसरी बार आयोजित हो रहा है डे-नाइट टेस्ट.
  • दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम मोटेरा में दिखेगा गुलाबी गेंद का जलवा.
  • दुनिया में अब तक 15 डे-नाइट टेस्ट खेले गए हैं.
  • डे-नाइट मैचों में अब तक फास्ट बॉलर्स ने 24.47 की औसत से 354 विकेट चटकाए हैं. वहीं स्पिनर्स ने 35.38 के एवरेज से 115 विकेट निकाले हैं.
  • पिछले पिंक बॉल मैच (एडिलेड) में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत की दूसरी पारी 36 पर सिमट गई थी.
  • पिंक बॉल मैच में सबसे कम स्कोर (36 रन) भारत के नाम है. जबकि ऑस्ट्रेलिया के नाम सबसे ज्यादा रन (589/3) हैं.
  • अभी 1-1 की बराबरी पर है इंग्लैंड टेस्ट सीरीज.

कोहली फिर दिखा सकते हैं कमाल

किंग कोहली यानी विराट कोहली ने अपना आखिरी अंतर्राष्ट्रीय शतक 2019 में बांग्लादेश के खिलाफ जड़ा था, वह मैच भारत का पहला डे-नाइट टेस्ट मैच था. ऐसे में एक बार फिर पिंक बॉल टेस्ट मैच में कोहली के पास कमाल दिखाने का मौका है. कोलाकाता पिंक बॉल मैच के बाद से अभी कोहली ने 34 पारियां खेली हैं, लेकिन शतक नहीं बनाया. यह उनका अब तक का सबसे बड़ा ब्रेक है.

अगर विराट तीसरे टेस्ट में शतक जमाते हैं तो वे यह उपबब्धि हासिल करने वाले दुनिया के पहले कप्तान बन जाएंगे. डे-नाइट टेस्ट मैचों में कोई भी कप्तान दो शतक नहीं जमा पाया है. वहीं कोहली पिंक बॉल टेस्ट में दो शतक जमाने वाले दुनिया के के तीसरे और भारत के पहले बल्लेबाज भी बन सकते हैं. पाकिस्तान के असद शफीक और ऑस्ट्रेलिया के मार्नस लाबुशेन ने दो-दो शतक लगाए हैं.

ईशांत टेस्ट में लगा सकते हैं “शतक”

ईशांत शर्मा के पास टेस्ट मैच में शतक लगाने का मौका है. यह शतक रनों का नहीं बल्कि मैचों का हो सकता है. अगर ईशांत अहमदाबाद टेस्ट में उतरते हैं तो यह उनका 100वां टेस्ट मैच होगा. इसके साथ ही वह भारत के दूसरे ऐसे फास्ट बॉलर होंगे जिसने 100 टेस्ट मैच खेले हैं. उनसे पहले कपिल देव (131 टेस्ट मैच) ने यह उपलब्धि हासिल की है.

मोटेरा में पुजारा यादगार पुजारा की पारी

अहमदाबाद के सरदार पटेल क्रिकेट स्टेडियम यानी मोटेरा स्टेडियम में आखिर मैच 2012 में भारत और इंग्लैंड के बीच ही खेला गया था. उस मैच में चेतेश्वर पुजारा ने 206 नॉट ऑउट और 41 नॉट आउट की पारी खेली थी. जिसकी बदौलत भारत ने इंग्लैंड पर 9 विकेट से जीत दर्ज की थी. ऐसे में बार फिर पुजारा का मोटेरा प्रेम देखने को मिल सकता है.

400 का अंकड़ा छू सकते हैं अश्विन

स्पिन स्टार रविचंद्रन अश्विन ने चेन्नई में कमाल का प्रदर्शन किया था. अगर वे अहमदाबाद में 6 विकेट निकालने में सफल हो जाते हैं तो वे 400 के आंकड़े को छू सकते हैं. अभी अश्विन के नाम 394 टेस्ट विकेट हैं, वे 400 विकेट के जादुई आंकड़े से महज कदम दूर हैं. वहीं अश्विन सबसे तेज 400 विकेट लेन वाले भारतीय भी बन सकते हैं क्योंकि अनिल कुंबले ने 85 मैच में 400 का आंकड़ा छुआ था, लेकिन अश्विन के पास 77वें मैच में ही यह उपलब्धि हासिल करने का मौका है.

एंडरसन के पास 900 का मौका

इंग्लैंड के पेसर जेम्स एंडरसन के पास तीसरे टेस्ट में इंटरनेशनल क्रिकेट में 900 विकेट पूरे करने का मौका होगा. एंडरसन के नाम फिलहाल 898 विकेट हैं. वहीं एंडरसन कुंबले से भी आगे निकलने का मौका भी एंडरसन के पास है. एंडरसन के टेस्ट में 611 विकेट हैं. मोटेरा में अगर वह 9 विकेट चटकाने में होते हैं तो वे अनिल कुंबले के रिकॉर्ड (619 विकेट) को तोड़ सकते हैं.

रोहित बन सकते हैं ढाई हजारी

रोहित शर्मा क्रिकेट के किसी भी प्रारुप में गियर बदलने में माहिर हैं. अहमदाबाद के ऐतिहासिक ग्राउंड में रोहित भी एक उपलब्धि हासिल कर सकते हैं. रोहित यदि 25 रन बनाते हैं तो वह टेस्ट कॅरियर में 2500 रन के स्कोर को पार कर लेंगे.

दुनिया का सबसे बड़ा स्टेडियम

दुनिया के सबसे बड़े मोटेरा क्रिकेट स्टेडियम को फिर से नई साज-सज्जा के साथ तैयार किया गया है. इसकी दर्शक क्षमता 1 लाख 10 हजार कर दी गई है, लेकिन इस मैच में कोविड नियमों के तहत 50 फीसदी दर्शक ही अंदर जा पाएंगे. इस मैदान में ट्रेडिशनल फ्लड लाइट्स की जगह स्टेडियम की छत पर एलईडी लाइट्स लगाई गई हैं. जिन्हें रिंग ऑफ फायर कहा जा रहा है. यह दुबई के इंटरनेशनल स्टेडियम जैसी लगाई गई हैं. जिसे हम सभी ने आईपीएल 2020 के दौरान देखा था. ऐसे में हो सकता है यह लाइट खिलाड़ियों को थोड़ा बहुत प्रभावित कर सकती है.

पिच का मिजाज

मोटेरा की पिच के आस-पास कुछ हरी घास है. ऐसे में मैच के दौरान स्पिनर्स को बाद में लगाया जाएगा. मैदान पर तापमान की बात करें तो वह 35 डिग्री सेल्सियस के आस-पास रहेगा जो गिरकर शाम तक 10 डिग्री तक जा सकता है. ऐसे में टेस्ट मैच के फाइनल सेशन में ओस भी प्रभावित कर सकती है. कोलकाता मैच में देखा गया था कि 59वें ओवर के दौरान गेंद अपना शेप बदलने लगी थी.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!