ADVERTISEMENT

मेरठ पहुंचे श्रीलंका के कप्तान दासुन शनाका, 5-6 घंटे रुककर सामने बनवाए बैट

Sri Lanka टीम के कप्तान दासुन शनाका और खिलाड़ी भानुका राजपक्षे मेरठ से बैट लेने आए.

Updated
मेरठ पहुंचे श्रीलंका के कप्तान दासुन शनाका, 5-6 घंटे रुककर सामने बनवाए बैट
i

अंडरडॉग टीम का तमगा, विषम परिस्थितियां, दाने-दाने को मोहताज देश, ट्विटर पर मदद की गुहार लगाते खिलाड़ी...श्रीलंक की टीम इन सब सुर्खियों को पीछे छोड़ आई है. खेल किसी देश को देखने के नजरिए में कितनी जल्दी बदलाव ला सकता है इसका सबसे बेहतर उदाहरण श्रीलंका (Sri Lanka Cricket) है,

लेकिन जिस तरह बुरे दौर में श्रीलंका ने भारत पर भरोसा दिखाया और भारत ने भी दिल खोलकर मदद की वैसे ही खेल के साजो-सामान के लिए भी श्रीलंका भारत पर ही भरोसा करता है. एशिया कप जीतने के बाद श्रीलंकाई टीम की नजर अब T20 वर्ल्ड कप पर है और इसी के लिए श्रीलंका के कप्तान दासुन शनाका (Dasun Shanaka) खुद मेरठ (Meerut) आए.

ADVERTISEMENT

दासुन शनाका और भानुका राजपक्षे ने मेरठ से लिए बैट

श्रीलंका की टीम के कप्तान दासुन शनाका और एशिया कप के फाइनल में अर्धशतक लगाकर अपनी टीम को चैंपियन बनाने वाले भानुका राजपक्षे मंगलवार, 20 सितंबर को खुद मेरठ आए. दोनों खिलाड़ियों ने आगामी T20 वर्ल्ड कप के लिए मेरठ की सरीन स्पोर्ट्स कंपनी से बल्ले बनवाए. दोनों खिलाड़ी सुबह 8.30 बजे ही मेरठ पहुंच गए थे, लेकिन खास बात ये है कि उन्होंने अपने सामने ही बैट तैयार करवाए.

बैट तैयार करवाने में खिलाड़ियों को 5 से 6 घंटे का इंतजार भी करना पड़ा, लेकिन वे अपने सामने ही बैट तैयार करवाकर ले गए.

बैट बनाने की तैयारी

Accessed by Quint Hindi

दासुन शनाका और भानुका राजपक्षे दोनों ने 4-4 बैट बनवाए और कहा कि मेरठ में बनने वाले बैट्स की क्वालिटी पर हम भरोसा कर सकते हैं. बैट बनवाने के बाद दोनों खिलाड़ी शाम करीब 6.30 बजे वापस श्रीलंका की फ्लाइट में बैठ गए. सरीन स्पोर्ट्स (SS) के एमडी जतिन सरीन ने क्विंट से बातचीत में बताया कि

अक्सर विदेशी खिलाड़ी खेल के सामान लेने मेरठ आते हैं. विदेशी ही नहीं ये भारतीय खिलाड़ियों के लिए पसंदीदा जगहों में से एक है. श्रीलंकाई खिलाड़ियों ने आज 4-4 बैट अपने सामने बनवाए और काफी खुश दिखे.
जतिन सरीन, एमडी, सरीन स्पोर्ट्स
ADVERTISEMENT

स्पोर्ट्स हब के रूप में मशहूर है मेरठ

मेरठ दुनिया भर में स्पोर्ट्स इक्विपमेंट्स के हब के रूप में मशहूर है. ये शहर नीरज चोपड़ा के जैवलिन से लेकर क्रिकेट सितारों के बल्ले और दस्तानों तक के लिए अपनी एक छवि बना चुका है. इसके महत्व का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि अब विदेशी खिलाड़ी भी अपनी खेल सामग्री के लिए मेरठ आने लगे हैं.

सूर्यकुमार यादव और दीपक हुड्डा जैसे बल्लेबाज मेरठ से ही अपने बैट बनवाते हैं. सरीन ने भी क्विंट से कहा कि मेरठ खेल के सामानों में अपनी गुणवत्ता बनाए हुए है और इसकी पहचान अब केवल भारत तक सीमित नहीं है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी पर लेटेस्ट न्यूज और ब्रेकिंग न्यूज़ पढ़ें, sports और cricket के लिए ब्राउज़ करें

टॉपिक:  Srilanka   T20 World Cup 2022 

ADVERTISEMENT
Published: 
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
और खबरें
×
×