डेविस कपः AITA की ITF से मांग,इस्लाबाद में सुरक्षा की फिर जांच हो
भारतीय डेविस कप टीम को पाकिस्तान के खिलाफ सितंबर में मैच खेलना है
भारतीय डेविस कप टीम को पाकिस्तान के खिलाफ सितंबर में मैच खेलना है(फोटोः PTI)

डेविस कपः AITA की ITF से मांग,इस्लाबाद में सुरक्षा की फिर जांच हो

ऑल इंडिया टेनिस एसोसिएशन (एआईटीए) ने इंटरनेशनल टेनिस फेडरेशन (आईटीएफ) को एक चिट्ठी लिखकर इस्लामाबाद में होने वाले डेविस कप मुकाबले को लेकर सुरक्षा इंतजाम के बारे में पूछा है. भारत ने हालांकि मैच का स्थान बदलने की मांग नहीं की है.

Loading...

इस बात की जानकारी एआईटीए के सचिव हिरनमॉय चटर्जी ने दी.

“डेविस कप टीम वहां के पहले के सुरक्षा इंतजामात से खुश हैं लेकिन यह कश्मीर मुद्दे के उठने से पहले की बात है. इसलिए अब हमने वहां की सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा करने के लिए पत्र लिखा है.”
हिरनमॉय चटर्जी, AITA सचिव

हालांकि एक दिन पहले ही खबर आई थी कि एआईटीए ने आईटीएफ से अपील की थी कि इस मुकाबले का वेन्यू बदला जाए.

इससे पहले चटर्जी ने कहा था कि पाकिस्तान की स्थिति भारतीय टीम के लिए खेलने के लिहाज से अनुकूल नहीं है.

चटर्जी ने कहा था,

“हम दो दिन का इंतजार करेंगे कि स्थिति किस तरह की रहती है और इसके बाद अगर हो सका तो आईटीएफ से बात करेंगे और कोशिश करेंगे कि स्थान बदला जा सके और कोई तटस्थ स्थान पर मैच कराया जाए. इस समय स्थिति खिलाड़ियों के लिहाज से अच्छी नहीं है कि वो लोग पाकिस्तान जाकर खेल सकें.”

अगर भारत ने खेलने से मना कर दिया तो उस पर हॉन्ग कॉन्ग की तरह प्रतिबंध लग सकता है जिसने पाकिस्तान में खेलने से इनकार कर दिया था. इसी कारण हॉन्ग कॉन्ग की टीम निचली डिविजन में चली गई थी.

भारतीय टेनिस टीम इससे पहले 1964 में पाकिस्तान गई थी और वहां 4-0 से जीत हासिल की थी.

इस मुकाबले का ड्रॉ फरवरी में आ गया था और तभी पुलवामा में आतंकवादी हमला हुआ था. इसलिए इस तरह की चर्चा तभी से हो रही थी कि भारत पाकिस्तान जा कर खेलेगा या नहीं.

लेकिन जब आईटीएफ ने पाकिस्तान को मैच की मेजबानी सौंपी तो एआईटीए ने खिलाड़ियों को चुनने की प्रक्रिया शुरू कर दी.

खेल मंत्रालय ने भी भारत के पाकिस्तान जाकर खेलने के रास्ते को साफ कर दिया है. दोनों टीमें डेविस कप में 2006 से नहीं भिड़ी हैं.

ये भी पढ़ें : ‘भारत के पाक में डेविस कप खेलने पर सरकार फैसला नहीं कर सकती’

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Follow our स्पोर्ट्स section for more stories.

    Loading...