ADVERTISEMENT

Brezza और S-Cross का BS-6 पेट्रोल वर्जन, जल्द लॉन्च करेगी मारुति

डिमांड हुई तो बीएस-6 मानक वाले डीजल वेरिएंट की बड़ी गाड़ियां ला सकती है मारुति

Published
Brezza और S-Cross का BS-6 पेट्रोल वर्जन, जल्द लॉन्च करेगी मारुति

देश की दिग्गज कार निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी देश में ईंधन उत्सर्जन के नये नियम लागू होने से पहले अपनी दो प्रमुख कारों ब्रेजा और एस-क्रॉस का पेट्रोल वेरिएंट पेश करेगी. ये नये वेरिएंट बीएस 6 ईंधन मानक वाले होंगे.

इसके साथ ही कंपनी ने कहा है कि देश का ऑटो सेक्टर मंदी से निकल आया है, यह कहने के लिए अभी अगले दो तीन महीने इंतजार करना होगा. मारुति सुजुकी इंडिया के कार्यकारी निदेशक (मार्केटिंग) शशांक श्रीवास्तव ने यह जानकारी दी.

उन्होंने कहा कि कंपनी ब्रेजा और एस-क्रॉस का बीएस-6 मानक वाला पेट्रोल वेरिएंट लेकर आएगी. उन्होंने कहा-

‘हम यह जल्द ही लेकर आएंगे. क्योंकि नये उत्सर्जन मानक एक अप्रैल, 2020 से लागू हो रहे हैं तो हम इस वित्त वर्ष की चौथी तिमाही (जनवरी मार्च) में बीएस 6 पेट्रोल ब्रेजा और एस-क्रॉस लेकर आएंगे.’ 

बता दें, कंपनी फिलहाल ब्रेजा और एस-क्रॉस का केवल डीजल वेरिएंट बेच रही है.

ADVERTISEMENT

डिमांड हुई तो बीएस-6 मानक वाले डीजल वेरिएंट की बड़ी गाड़ियां ला सकती है मारुति

कंपनी के डीजल वाहनों का प्रोडक्शन बंद किए जाने संबंधी एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि कंपनी पहले ही कह चुकी है कि वह डीजल की बीएस-6 मानक वाली छोटी गाड़ियां नहीं बनाएगी लेकिन अगर बाजार में रुझान रहता है तो इस पर दोबारा विचार करेगी.

उन्होंने कहा कि बाजार की मांग को देखने के बाद मारुति बड़ी गाड़ियों के बीएस-6 मानक वाले डीजल वेरिएंट भी ला सकती है लेकिन यह बाजार पर निर्भर करेगा और इस बारे में अभी कुछ अंतिम फैसला नहीं किया गया है.

ADVERTISEMENT

ऑटो सेक्टर के मंदी से निकलने पर कुछ कहना जल्दबाजी

एक सवाल के जवाब में श्रीवास्तव ने कहा कि देश का ऑटो सेक्टर ‘मंदी’ के दौर से पूरी तरह से निकल आया है यह कहना अभी जल्दबाजी होगा और आने वाले दो तीन महीने इस लिहाज से महत्वपूर्ण होंगे.

उन्होंने कहा, ‘अक्टूबर में बिक्री बहुत अच्छी रही, इससे हमें थोड़ी राहत मिली. स्टॉक भी काफी कम हो गया. इस तरह से अक्टूबर अच्छा रहा. अब सवाल है कि क्या यह क्रम बना रहेगा. हम यह कहने में थोड़ा सतर्क हैं कि उद्योग में स्थिति सुधर गई है. इसकी वजह यह है कि हम देखना चाहते हैं कि आगे दो तीन महीने कैसे रहेंगे.’

इलेक्ट्रिक व्हिकल (EV) के सवाल पर उन्होंने कहा, ‘कंपनी फिलहाल 50 ईवी गाड़ियों को अलग अलग हालात में परख रही है परीक्षण कर रही है उसके आधार पर हम आगे फैसला करेंगे.’

उन्होंने बताया कि कंपनी ने सात महीने में तीन लाख से ज्यादा बीएस-6 वाहन बेचकर रिकॉर्ड बनाया है. केवल अक्टूबर महीने में ही कंपनी ने ऐसे लगभग एक लाख वाहन बेचे.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT