सरकार बनाने को लेकर विपक्षी पार्टियों में बातचीत जारी:सैम पित्रोदा

सरकार बनाने को लेकर विपक्षी पार्टियों में बातचीत जारी:सैम पित्रोदा

न्यूज वीडियो

वीडियो एडिटर: आशुतोष भारद्वाज

वीडियो प्रोड्यूसर: कनिष्क दांगी

Loading...

‘मोदी सरकार ने पांच साल में कुछ नहीं किया, सिर्फ झूठ बोला है. गुजरात का GIFT (Gujarat International Financial Tech) सिटी प्रोजेक्ट इसका सबसे बड़ा सबूत है’. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और इंडियन ओवरसीज कांग्रेस के अध्यक्ष सैम पित्रोदा ने क्विंट के खास शो राजपथ में संजय पुगलिया से बातचीत के दौरान ये कहा. पित्रोदा ने कहा कि GIFT सिटी में निवेश के जो दावे किए गए थे वो खोखले साबित हुए.

पित्रोदा ने मोदी सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि- जब मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे तब GIFT सिटी की बात होती थी, 5 हजार करोड़-50 हजार करोड़ के MoU साइन हुए, सब झूठ था. ये लोगों को बताया क्यों नहीं गया कि मोदी सरकार की सबसे बड़ी असफलता गुजरात की GIFT सिटी है?

मीडिया ये नहीं दिखाता है. मीडिया को दिखाना चाहिए, कई किसानों की जमीन ली गई, ये कह कर कि यहां बहुत बड़ी GIFT सिटी बनेगी. आज जाकर आप देखेंगे तो वहां सिर्फ 2 बिल्डिंग खड़ी है. ये असफलता है मोदी जी की.

पित्रोदा ने देश की अर्थव्यवस्था से लेकर आम चुनाव और आने वाली सरकार जैसे तमाम मुद्दों पर बात की. प्रधानमंत्री मोदी के कार्यकाल को लेकर पित्रोदा ने कहा कि पिछले 5 सालों से देश में फैलाया जा रहा है कि देश में मोदी के अलावा कोई और नहीं है जो देश चला पाए, लेकिन ऐसा नहीं है, देश में मोदी से हजार गुना ज्यादा अच्छे लोग मौजूद हैं.

‘बीजेपी सरकार झूठ का प्रचार करती है’

बीजेपी के प्रचार को लेकर इंडियन ओवरसीज कांग्रेस के अध्यक्ष सैम पित्रोदा ने कहा कि ‘बीजेपी प्रमोशन में ज्यादा पैसा लगाती है, जनता का पैसा लगाना नैतिक आधार पर सही नहीं है’-

ये सरकार झूठ फैलाती है और जितना पैसा मोदी सरकार प्रमोशन में लगाती है वो जनता का पैसा है. ये पैसा गरीबों का है. ये नैतिक आधार पर सही नहीं है. इसका कोई आधार ही नहीं है. आपको ये सोचना चाहिए कि सरकार किसी स्कीम को प्रमोट कर रही है या पार्टी को? हमने कोई प्रचार नहीं किया. हम भी मार्केटिंग में पैसा लगा सकते थे लेकिन हमने सोचा कि ये नैतिक आधार पर सही नहीं होगा. हमने बस अपना काम किया.

‘NYAY से हर कोई वाकिफ’

कांग्रेस की न्यूनतम आय योजना (NYAY) पर सैम पित्रोदा का कहना है कि शहर में भले ही इसकी चर्चा ना हो लेकिन गांव-देहात में NYAY की जानकारी सब लोगों को है. उन्हें हिंदू-मुस्लिम की बहस नहीं, काम चाहिए. छोटे व्यापारी नोटबंदी और जीएसटी से परेशान हैं. छात्र इस बात से नाराज हैं कि उनकी स्कॉलरशिप बंद हो गई.

किसान परेशान हैं, पीएम मोदी ने किसानों के आय दोगुनी होने की बात कही थी, ये नहीं हुआ, उनका कहना है कि ‘मोदी जी ने उन्हें लूट लिया है, किसान आत्महत्या कर रहे हैं’, इतना ही नहीं छोटे कारोबारी का भी हाल खराब है, हम जगह-जगह जाते हैं, लोगों का कहना है कि GST और नोटबंदी से उन्हें बहुत नुकसान हुआ है, अगर रोजगार की बात करें तो मोदी सरकार ने हर साल 2 करोड़ लोगों को रोजगार देने की बात कही थी लेकिन कहां हैं नौकरियां?

पित्रोदा के मुताबिक देश को कोर गवर्नेंस, रोजगार और अभिव्यक्ति की आजादी चाहिए. हाल ही में राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी को खुली बहस की चुनौती दी थी. इस सिलसिले में चुटकी लेते हुए पित्रोदा ने कहा कि अगर मोदी राहुल से बहस नहीं करना चाहते तो मुझसे कर लें, मैं तो गुजराती में भी कर लूंगा.

सैम पित्रोदा ने बीजेपी सरकार की आलोचना करते हुए कहा है कि बीजेपी सरकार ने 5 सालों में कुछ काम नहीं किया है इसलिए वो झूठ बोलते हैं, इन 5 सालों में लोकतंत्र खतरे में आ गया है. आजादी लगभग खत्म हो गई है’

PM का राजीव गांधी को लेकर टिप्पणी निंदनीय

4 मई के प्रतापगढ़ रैली में पीएम मोदी की पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी पर टिप्पणी को लेकर सैम पित्रोदा ने कहा है कि उन्हें इस बात से काफी दुख हुआ है. अगर बीजेपी या पीएम मोदी उनकी आलोचना करते या उन पर कोई कमेंट करते तो उन्हें इससे कोई दिक्कत नहीं है लेकिन पूर्व प्रधानमंत्री पर कमेंट करना जो अब इस दुनिया में नहीं है इससे उन्हें बहुत दुख पहुंचा है और उन्होंने इसे निंदनीय बताया.

‘हम सरकार बनाएंगे’

अगली सरकार के गठन पर सैम पित्रोदा ने अहम बात कही. उन्होंने कहा कि तमाम विपक्षी पार्टियों के बीच बातचीत जारी है. उन्होंने ये भी कहा कि गठबंधन की सरकार बनने की स्थिति में प्रधानमंत्री कौन बने, इसपर आसानी से सहमति बन जाएगी. उनका कहना है कि ममता बनर्जी, मायावती, अखिलेश यादव, चंद्रबाबू नायडू, अरविंद केजरीवाल सभी की सोच देश को लेकर है और सभी की सोच एक ही है.

ये भी पढ़ें : ‘राजपथ’ में गडकरी-‘सभी भगवाधारियों का बिल हमारे नाम पर मत फाड़िए’

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Follow our न्यूज वीडियो section for more stories.

न्यूज वीडियो
    Loading...