ADVERTISEMENTREMOVE AD

Republic Day 2022: भारत की 26 स्पेशल उपलब्धियां और उनसे जुड़ी तमन्नाएं

भारत में संविधान को लागू हुए कई दशक गुजर चुके हैं और देश में काफी कुछ बदल चुका है.

Published
छोटा
मध्यम
बड़ा

आज भारत देश अपना 73वां गणतंत्र दिवस (Republic Day) मना रहा है. साल 1950 में आज के दिन ही हिन्दुस्तान को अपना संविधान प्राप्त हुआ था, जिसको बनाने में कुल 2 साल, 11 महीने और 18 दिन का वक्त लगा था. भारत में संविधान को लागू हुए कई दशक गुजर चुके हैं और देश में काफी कुछ बदल चुका है. इन कई सालों में भारत ने कई नए इतिहास बनाए और तमाम तरह की उपलब्धियां हासिल करते हुए दुनिया में अपनी अलग पहचान बनाई. इसके अलावा मुस्तकबिल के लिए हिन्दुस्तानियों के दिलों में कुछ तमन्नाएं भी हैं.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

आइए, आज यानी 26 जनवरी के दिन जानते हैं भारत की 26 बड़ी उपलब्धियों और उनसे जुड़ी तमन्नाओं के बारे में...

1948: हॉकी टीम ने ओलंपिक में पहला गोल्ड जीता

तमन्ना: क्रिकेट की तरह हॉकी भी हिट हो

1950: भारत का संविधान लागू किया गया

तमन्ना: हर देशवासी अपने अधिकार, मूल कर्तव्य समझे

1951: देश का पहला IIT खड़गपुर में खुला

तमन्ना: गांवों में अच्छे प्राथमिक स्कूल हों

0

1952: में पहले चुनाव से लेकर अब तक लोकतंत्र कायम

तमन्ना: चुनाव में पैसा-पावर-पोलराइजेशन का इस्तेमाल खत्म हो

1958: ऑस्कर बेस्ट विदेशी भाषा फिल्म कैटेगरी में 'मदर इंडिया' नॉमिनेट

तमन्ना: बेस्ट फिल्म का ऑस्कर मिले

1961: देश को पहला एम्स और IIM मिला

तमन्ना: हर शहर में अच्छा मेडिकल सिस्टम हो. इलाज के लिए बड़े शहरों की ओर न भागना पड़े

1961: गोवा भारत का हिस्सा बना

तमन्ना: पाक अधिकृत कश्मीर पर हमारा कब्जा हो और चीन के कब्जे से हमारी जमीन छूटे

1964: लाल बहादुर शास्त्री ने हरित क्रांति की शुरुआत की

तमन्ना: किसानों को मिले उनकी मेहनत का फल, शहरों की ओर पलायन रुके

ADVERTISEMENT

1968: सोवियत रूस से भारत की पहली पनडुब्बी पहुंची

तमन्ना: हथियार-टेक्नोलॉजी में देश आत्मनिर्भर बने

1970: दूध का उत्पादन बढ़ाने के लिए श्वेत क्रांति की शुरुआत

तमन्ना: मासूमों को दिए जाने वाले दूध को मिलावट से बचाया जा सके

1974: भारत ने पोखरण में परमाणु परीक्षण किया

तमन्ना: भारत परमाणु ऊर्जा के जरिए क्लीन एनर्जी का लीडर बने

1982: देश में पहली बार कलर टीवी प्रसारण

तमन्ना: रंगीन टीवी से OTT तक पहुंच गए, अब सेंसरशिप से मिले आजादी

1983: पहली बार क्रिकेट विश्व कप में भारत की जीत

तमन्ना: ओलंपिक मेडल टैली में हम टॉप के देशों में शामिल हों

ADVERTISEMENTREMOVE AD

1991: भारतीय अर्थव्यवस्था का उदारीकरण

तमन्ना: नीतिगत जंजीरों-जटिलताओं से आजाद हो कारोबार

1993: पहली बार पंचायती राज व्यवस्था लागू हुई

तमन्ना: शहरों की तरह गांव भी बुनियादी सुविधाएं हों

1995: देश के मोबाइल फोन से पहला कॉल

तमन्ना: हम भी कुछ ऐसे मोबाइल ब्रांड बनाएं जो दुनिया खरीदे

1995: आम जनता को इंटरनेट एक्सेस

तमन्ना: खास लोग इंटरनेट के जरिए आम जनता को वेबकूफ न बनाएं

1997: कल्पना चावला स्पेस में जाने वाली पहली भारतीय मूल की महिला बनीं

तमन्ना: देश की लड़कियां बड़े ख्वाब देख पाएं, वो हर बंधन को तोड़ उड़ सकें

ADVERTISEMENT

1999: कारगिल में भारत ने पाकिस्तान को धूल चटाई

तमन्ना- कश्मीर समस्या का स्थाई हल निकले

2005: देश में सूचना का अधिकार कानून लागू हुआ

तमन्ना: सरकारी विभाग, अफसर इस कानून का सम्मान करें

2009: हर बच्चे को शिक्षा का अधिकार

तमन्ना: किसी भी बच्चे को बाल मजदूरी न करनी पड़े

2014: मंगलयान मिशन से भारत अपने पहले प्रयास में मंगल पर पहुंचने वाला पहला और एकमात्र देश बना

तमन्ना: भारत इंसानों को सफलतापूर्वक स्पेस में भेजने की अपनी ख्वाहिश पूरी करे

2015: कई प्रदेशों में स्मार्ट सिटी योजना शुरू

तमन्ना: देश का हर शहर स्मार्ट सिटी बने

ADVERTISEMENTREMOVE AD

2017: देश में GST की शुरुआत हुई

तमन्ना: GST और सिंपल हो. राज्यों की शिकायत दूर हो

2018: SC ने धारा 377 के उस प्रावधान को हटा दिया जिसके तहत स्वेच्छा से समलैंगिक संबध बनाना भी जुर्म था

तमन्ना: हर लिंग, हर धर्म, हर जाति के युवा निडर होकर अपना प्यार और पार्टनर चुन सकें

2022: कोविड टीके के 162 करोड़ डोज लग चुके

तमन्ना: वक्त पर टीके लगते तो जानें बचतीं, अब बूस्टर डोज समय पर लगें

(24 जनवरी,2022 तक)

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
×
×