ADVERTISEMENT

FY21 में 2000 के नोट की सप्लाई नहीं, आखिरी बार 2018-19 में छपे थे

20 रुपये के नोट की सप्लाई बड़े स्तर पर बढ़ी है

Published
20 रुपये के नोट की सप्लाई बड़े स्तर पर बढ़ी है
i

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने 27 मई को कहा कि वित्त वर्ष 2020-21 में 2000 रुपये की नोट की कोई नई सप्लाई नहीं की गई. पिछले वित्त वर्ष 2019-20 में भी 2000 के नोट जारी नहीं किए गए थे. आखिरी बार RBI ने 2018-19 में 467 लाख ये नोट सप्लाई किए थे.

RBI की सालाना रिपोर्ट में कहा गया कि 20 रुपये के नोट की सप्लाई बड़े स्तर पर बढ़ी है. 2019-20 में ये 13,390 लाख नोट जारी हुए थे. जबकि इस वित्त वर्ष ये आंकड़ा 38,250 लाख पर पहुंच गया.  

रिपोर्ट के मुताबिक, कुल मिलाकर नोटों की सप्लाई पिछले वित्त वर्ष के मुकाबले 0.3 फीसदी कम रही. 2019-20 में ये 2,23,875 लाख थी, जबकि इस बार 2,23,301 रही.

इस वित्त वर्ष बैंक नोट की वैल्यू और वॉल्यूम में इजाफा देखने को मिला था. 2019-20 में वैल्यू जहां 14.7 फीसदी और वॉल्यूम 6.6 फीसदी बढ़ा था. वहीं इस वित्त वर्ष वैल्यू में 16.8% और वॉल्यूम में 7.2% की बढ़ोतरी हुई.

ADVERTISEMENT

500 का नोट सबसे ज्यादा चलन में

सर्कुलेशन में मौजूद कुल बैंक नोट की वैल्यू के हिसाब से देखा जाए तो 31 मार्च 2021 तक 500 और 2000 रुपये के नोटों की साथ में वैल्यू इसकी 85.7 फीसदी है. 31 मार्च 2020 तक ये 83.4 फीसदी था.  

वॉल्यूम में 500 रुपये के नोट 31.1 फीसदी के साथ सबसे ज्यादा हैं. इसके बाद 10 रुपये के नोट का नंबर आता है, जो 31 मार्च 2021 तक कुल बैंक नोट का 23.6 फीसदी हिस्सा बनाता है.

बैंक नोट के कुल वॉल्यूम में 500 रुपये के नोट की हिस्सेदारी भी 2020 के मुकाबले बढ़ी है. पिछले साल के 25.4% से बढ़कर अब ये 31.1% हो गई है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT