ADVERTISEMENTREMOVE AD

विष्णुदेव साय होंगे छत्तीसगढ़ CM: आदिवासी नेता, RSS से करीबी... जानिए पंच से सीएम तक का सफर

Vishnu Deo Sai ने 2020 से 2022 तक छत्तीसगढ़ में बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष का पद संभाला है. यहां जानिए उनका पॉलिटिकल करियर

Published
चुनाव
2 min read
छोटा
मध्यम
बड़ा

विष्णुदेव साय (Chhattisgarh New CM Vishnu Deo Sai) छत्तीसगढ़ के अगले मुख्यमंत्री बनने जा रहे हैं. सात दिनों से चले आ रहे सस्पेंस को खत्म करते हुए बीजेपी ने आखिरकार छत्तीसगढ़ के लिए मुख्यमंत्री चेहरे की घोषणा कर दी है. तमाम अटकलों के बीच, बीजेपी के आलाकमान और विधायकों ने अगले सीएम के रूप में विष्णु देव साय के नाम पर मुहर लगा दी है.

छत्तीसगढ़ ही नहीं राष्ट्रीय स्तर पर बीजेपी के बड़े आदिवासी चेहरा, विष्णुदेव ने 2020 से 2022 तक छत्तीसगढ़ में बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष के रूप में भी काम किया है. चलिए आपको हम यहां विष्णु देव के राजनीतिक करियर और बीजेपी में उनके कद के बारे में बताते हैं.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

मोदी सरकार में मंत्री, बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष.. कौन-कौन सी भूमिका निभाई?

विष्णु देव साय बीजेपी के प्रमुख आदिवासी चेहरा रहे हैं. पेशे से कृषक से राजनेता बने, विष्णु देव साय मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में इस्पात, खान, श्रम और रोजगार राज्य मंत्री (MoS) भी थे.

विष्णु देव का राजनीतिक सफर 1989 में बगिया गांव के पंच के रूप में शुरू हुआ और बाद में 1990 में निर्विरोध सरपंच बने. उसी वर्ष, वह तपकरा निर्वाचन क्षेत्र से विधायक के रूप में चुने गए और 1990 से 1998 तक अविभाजित मध्य प्रदेश में विधायक के रूप में कार्य करते हुए आदिवासी समुदाय का प्रतिनिधित्व किया.

1999 में, विष्णु देव ने रायगढ़ लोकसभा क्षेत्र से सांसदी का चुनाव जीता. बीजेपी के अंदर उनका कद बढ़ता रहा, जिससे वे 2006 में छत्तीसगढ़ में बीजेपी के राज्य अध्यक्ष बने.

रायगढ़ निर्वाचन क्षेत्र से 2009 और 2014 के लोकसभा चुनावों में शानदार जीत के साथ, विष्णुदेव ने बीजेपी के प्रमुख आदिवासी नेता के रूप में अपनी भूमिका स्थापित की. उन्होंने 27 मई 2014 से 2019 तक नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार में इस्पात, खान, श्रम और रोजगार मंत्रालय में राज्य मंत्री के रूप में भी कार्य किया. 2019 के लोकसभा चुनाव में विष्णु देव को टिकट नहीं दिया गया था.

वह 2020 से 2022 तक बीजेपी के छत्तीसगढ़ प्रदेश अध्यक्ष थे. विष्णुदेव साय के पूर्व सीएम रमन सिंह के साथ-साथ संघ परिवार (आरएसएस) से भी काफी करीबी रिश्ते हैं. विष्णु देव साय को आरएसएस की पसंद भी माना जा रहा है, क्योंकि इस बार के चुनाव में संघ ने पार्टी के लिए जमीनी स्तर पर सरगुजा, रायगढ़ और बस्तर जैसे इलाके में काम किया है.

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव 2023 में इस बार विष्णु देव ने मौजूदा कांग्रेस विधायक यूडी मिंज को 25541 वोटों के अंतर से हराकर चुनाव जीता है.

विष्णु देव छत्तीसगढ़ के पहले आदिवासी सीएम होंगे क्योंकि पूर्व सीएम अजीत जोगी ने 2019 में अपना एसटी दर्जा खो दिया था.

बता दें कि छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और राजस्थान के लिए मुख्यमंत्री के नामों को अंतिम रूप देने के लिए बीजेपी ने पर्यवेक्षकों को नियुक्त किया है. सबसे पहले विष्णु देव साई के नाम की घोषणा की गई है, जबकि अन्य दो राज्य के सीएम के नामों पर अभी भी सस्पेंस जारी है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

0
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×