ADVERTISEMENT

Cervical Cancer Vaccine:जल्द मिलेगी पहली स्वदेशी और सस्ती सर्वाइकल कैंसर वैक्सीन

Cervical Cancer Vaccine अब जल्द ही उपलब्ध होगी, SII के प्रमुख अदार पूनावाला

Published
फिट
2 min read
Cervical Cancer Vaccine:जल्द मिलेगी पहली स्वदेशी और सस्ती सर्वाइकल कैंसर वैक्सीन
i

रोज का डोज

निडर, सच्ची, और असरदार खबरों के लिए

By subscribing you agree to our Privacy Policy

सर्वाइकल कैंसर (Cervical Cancer) से बचाव के लिए SII द्वारा तैयार की गई स्वदेशी एचपीवी वैक्सीन (HPV vaccine) अगले कुछ महीनों में बाजार में मिलने लगेगी. यह जानकारी वैक्सीन के साइयंटिफिक लॉन्च के अवसर पर आयोजित एक कार्यक्रम में दी गयी है.

SII के प्रमुख अदार पूनावाला ने इसकी कीमत समेत वैक्सीन से जुड़ी कई दूसरी महत्वपूर्ण बातों की जानकरी दी.

ADVERTISEMENT

पहली स्वदेशी एचपीवी वैक्सीन

अदार पूनावाला ने यह भी कहा कि पहले सरकारी चैनल के माध्यम से टीका उपलब्ध कराया जाएगा और अगले साल से कुछ निजी भागीदार भी शामिल होंगे.

उन्होंने आगे कहा कि यह टीका लोगों के लिए 200-400 रुपये की किफायती कीमत में उपलब्ध होगा. हालांकि, अंतिम कीमत अभी तय नहीं की गई है.

अदार पूनावाला ने गुरुवार को केंद्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री जितेंद्र सिंह के साथ टीके के वैज्ञानिक समापन की घोषणा करने के लिए एक कार्यक्रम में भाग लिया.

स्वदेशी एचपीवी वैक्सीन के साइयंटिफिक लॉन्च पर यह भी बताया गया कि वैक्सीन की 20 करोड़ खुराक बनाने की योजना है और पहले भारत में वैक्सीन दी जाएगी. उसके बाद ही इसे अन्य देशों में निर्यात किया जाएगा.

ADVERTISEMENT

इसी साल 12 जुलाई को, SII के सीईओ अदार पूनावाला ने घोषणा की थी कि वैक्सीन को भारत के DCGI और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा अप्रूव्ड (approved) किया गया है.

उन्होंने ट्विटर पर कहा था, "पहली बार महिलाओं में सर्वाइकल कैंसर के इलाज के लिए एक भारतीय एचपीवी वैक्सीन होगी, जो कि सस्ती और सुलभ दोनों है."

एचपीवी क्या है?

एचपीवी (HPV) यानि कि ह्यूमन पेपिलोमा वायरस, एक आम वायरस है, जो बेहद खतरनाक और तेजी से फैलता है. यह एक तरह का वायरल इन्फेक्शन है, जो सेक्स के माध्यम से तो फैलता ही है, पर त्वचा से त्वचा के सम्पर्क में आने से भी फैलता है. मतलब ये जरूरी नहीं कि सेक्सुअल पेनेट्रेशन हो, तभी दो व्यक्ति के बीच यह वायरस फैलेगा.

एचपीवी संक्रमण से कैसे बचें?

  • सेफ सेक्शुअल प्रैक्टिस: बैरियर कॉन्ट्रासेप्टिव यानि कंडोम के इस्तेमाल से सेक्शुअली ट्रांसमिटेड इंफेक्शन से बचा जा सकता है.

  • एचपीवी वैक्सीन: यह वैक्सीन एचपीवी वायरस वाले कैंसर को रोकने में कारगर साबित होता है. लगभग 90 प्रतिशत तक यह वैक्सीन एचपीवी वाले कैंसर से बचाता है. यूएस एफ़डीए द्वारा मान्यता प्राप्त ये वैक्सीन, भारत में 9 साल की लड़कियों से ले कर 45 वर्ष की महिलाओं को दी जाती है.

  • एचपीवी वैक्सीन के साथ स्क्रीनिंग जारी रखना भी महत्वपूर्ण है. समय-समय पर पैप स्मीयर टेस्ट करते रहने से एचपीवी के कारण होने वाले कैंसर से बचा जा सकता है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
500
1800
5000

or more

प्रीमियम

3 माह
12 माह
12 माह
मेंबर बनने के फायदे
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
और खबरें
×
×