उत्तर प्रदेश: एक वीडियो, एक ऑडियो क्लिप और SP पर हत्या का केस

पिछले दिनों व्यापारी का एक वीडियो सामने आया था, जिसमें गंभीर आरोप लगाए गए थे

Updated

वीडियो एडिटर: राहुल सांपुई

उत्तर प्रदेश के एक व्यवसायी इंद्रकांत त्रिपाठी (Indrakant Tripathi) की कानपुर स्थित अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई है. इंद्रकांत ने पुलिस अधिकारी मणिलाल पाटीदार (जो अभी निलंबित हैं) पर रंगदारी मांगने के आरोप लगाए थे.

इस मामले में पिछले दिनों एक वीडियो सामने आया था, जिसमें इंद्रकांत को यह कहते सुना जा सकता है, ‘’अगर मेरी हत्या होती है तो इसके पीछे पुलिस अधीक्षक महोबा मणिलाल पाटीदार और सुरेश सोनी होंगे क्योंकि ये दोनों पिछले एक साल से मेरे पीछे पड़े हुए हैं.’’

वीडियो सामने आने के बाद मंगलवार को क्रशर व्यवसायी इंद्रकांत त्रिपाठी (44) संदिग्ध परिस्थिति में गोली लगने से घायल, अपनी कार में मिले थे. यह गोली उनके गले में लगी थी

इस गोलीकांड से पहले के कुछ धमकी भरे ऑडियो भी वायरल हो रहे हैं. एक ऑडियो क्लिप में एक शख्स जो अपना नाम आशू भदौरिया बता रहा है कथित तौर पर इंद्रकांत के साले से इंद्रकांत के बारे में पूछ रहा है और धमकी दे रहा है. 

ऑडियो क्लिप में ‘राजा साहब’ के नाराज होने पर अंजाम भुगतने की धमकी की बात सुनी जा सकती है. हालांकि अभी यह भी साफ नहीं हुआ है कि ‘राजा साहब’ के तौर पर किसका जिक्र किया गया था.

बता दें कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार, 9 सितंबर को मणिलाल पाटीदार को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया था.

इंद्रकांत को गोली लगने के मामले में उनके बड़े भाई रविकांत त्रिपाठी की तहरीर पर शुक्रवार की शाम कबरई थाने में निलंबित पुलिस अधीक्षक मणिलाल पाटीदार, कबरई थाने के निलंबित थानाध्यक्ष देवेंद्र शुक्ला और पत्थर खनन के विस्फोटक सामग्री व्यवसायी ब्रम्हदत्त और सुरेश सोनी के खिलाफ जबरन धन वसूली (386), हत्या की कोशिश (307), साजिश रचना (120बी) और भ्रष्टाचार निवारण एक्ट 1988 की धारा-7/8 का मुकदमा दर्ज हुआ था.

रविकांत ने आरोप लगाया था कि पाटीदार ने उनके भाई से 6 लाख रुपये रिश्वत मांगी थी और न देने पर उसे झूठे मुकदमे में फंसाने की धमकी दी थी.

वहीं इस मामले में डीजीपी ने एक एसआईटी गठित करने का आदेश दिया है.एसआईटी का नेतृत्व आईजी वीएनएस रेंज श्री विजय सिंह मीणा और श्री शलभ माथुर डीआईजी करेंगे. श्री अशोक कुमार त्रिपाठी एसपी सदस्य होंगे. वे 7 दिनों में रिपोर्ट देंगे.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!