ADVERTISEMENTREMOVE AD

अगस्ता वेस्टलैंड केस: 5 दिन की CBI कस्टडी में बिचौलिया मिशेल

अगस्ता वेस्टलैंड डील के कथित बिचौलिये मिशेल को पटियाला हाउस कोर्ट ने 5 दिनों की सीबीआई कस्टडी में भेज दिया है. 

Updated
भारत
2 min read
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा
Hindi Female

अगस्ता वेस्टलैंड हेलि‍कॉप्टर डील के कथित बिचौलिये क्रिश्चियन जेम्स मिशेल को दिल्‍ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने 5 दिनों की सीबीआई कस्टडी में भेज दिया है.

सीबीआई ने बुधवार को मिशेल को पटियाला हाउस कोर्ट में पेश किया था, जहां स्पेशल जज अरविंद कुमार ने उससे कई सवालों के जवाब मांगे.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

सीबीआई ने मांगी थी 14 दिनों की कस्टडी

सीबीआई ने मिशेल को कोर्ट में पेश करने के बाद उसे 14 दिन की कस्टडी में भेजे जाने की मांग की थी. सीबीआई की तरफ से दलील दी गई थी कि उसे इस केस में अभी कई अहम पहलुओं की जांच करनी है, इसीलिए ज्यादा से ज्यादा दिनों की कस्टडी दी जाए. लेकिन कोर्ट ने मिशेल को 5 दिनों तक सीबीआई कस्टडी में भेजने का आदेश दिया.

वहीं मिशेल के वकील का कहना था कि जब तक मिशेल से जुड़े सभी दस्तावेज नहीं मिल जाते हैं, उसे न्यायिक हिरासत में भेजा जाए. मिशेल की तरफ से वकील जोसेफ अल्जो कोर्ट में पैरवी कर रहे हैं.

सीबीआई ने कोर्ट में दलील दी कि मिशेल से उन्हें कई अहम जानकारियां मिल सकती हैं. पूछताछ के दौरान मिशेल कई अहम खुलासे कर सकता है, जिससे इस घोटाले से जुड़े कई अधिकारियों का भी पर्दाफाश हो सकता है.

0

मंगलवार रात लाया गया दिल्ली

क्रिश्चियन जेम्स मिशेल को मंगलवार को देर रात भारत ले आया गया. मिशेल को मंगलवार रात पौने ग्यारह बजे रॉ के विमान से दुबई से नई दिल्ली लाया गया. कहा जा रहा है कि इस ऑपरेशन को खुद राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल अपने नेतृत्व में अंजाम दे रहे थे और अंतरिम सीबीआई डायरेक्टर इसे को-ऑर्डिनेट कर रहे थे.

मिशेल के भारत पहुंचने के तुरंत बाद सीबीआई ने एयरपोर्ट से ही उसे गिरफ्तार कर लिया था. इससे पहले भारत से एक अधिकारियों की टीम मिशेल को लेने दुबई गई थी.

ADVERTISEMENT

बता दें कि क्रिश्चियन जेम्स मिशेल को वीवीआईपी हेलि‍कॉप्टर सौदे के लिए कथित रूप से 3600 करोड़ रुपए रिश्वत दी गई थी. इसके बाद से ही भारतीय एजेंसियों को उसकी तलाश थी. इसके बाद यूएई की सुरक्षा एजेंसियों ने फरवरी 2017 में मिशेल को गिरफ्तार किया था. तभी से उसके प्रत्यर्पण की कोशिशें चल रही थीं.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENTREMOVE AD
Published: 
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
×
×