दिल्ली में मास्क नहीं पहनने पर जुर्माना 500 से बढ़कर 2000 हुआ

दिल्ली में कोरोना वायरस के संक्रमित मामलों की कुल संख्या 5 लाख पार कर गई है.

Updated
भारत
2 min read
अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में 40 हजार प्रतिदिन टेस्टिंग की बात कही
i

दिल्ली में कोरोना वायरस के बढ़ते केसों को देखते हुए सरकार सख्त हो गई है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि अब दिल्ली में मास्क नहीं पहनने पर 2000 रुपये का जुर्माना लगेगा. पहले मास्क नहीं पहनने पर 500 रुपये का फाइन था. प्रेस कॉन्फ्रेंस में केजरीवाल ने दिल्ली के अस्पतालों में बेड्स की संख्या से लेकर सार्वजनिक जगहों पर छठ पर्व पर प्रतिबंध पर बात की. सीएम ने कोविड के बढ़ते केसों के दौरान अच्छे मैनेजमेंट के लिए मेडिकल स्टाफ को भी शुक्रिया कहा.

“दिल्ली में बहुत लोग मास्क पहन रहे हैं, लेकिन कई अभी भी पहनते नहीं है. कई बार जब कहने से बात नहीं बनती तो सख्त होना पड़ता है. इसलिए जुर्माने को 500 से बढ़ाकर 2000 किया जा रहा है. जो-जो मास्क नहीं पहनेगा, उसपर 2000 का जुर्माना लगाया जाएगा.”
अरविंद केजरीवा, मुख्यमंत्री, दिल्ली

केजरीवाल ने बताया कि अभी दिल्ली सरकार, केंद्र सरकार और प्राइवेट अस्पतालों को मिलाकर करीब साढ़े 7 हजार बेड्स उपलब्ध हैं. इसमें से से 446 आईसीयू बेड्स हैं. सीएम ने बताया कि केंद्र और दिल्ली सरकार के मिलाकर 1403 नए ICU बेड्स दिल्ली में उपलब्ध होंगे.

बुधवार को दिल्ली में कोरोना वायरस के संक्रमित मामलों की कुल संख्या 5 लाख पार कर गई है. 18 नवंबर को दिल्ली में कोविड-19 के 7,486 नए पॉजिटिव केस रिकॉर्ड किए गए.

प्राइवेट अस्पतालों में कोरोना के लिए बेड रिजर्व

सीएम केजरीवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि दिल्ली के प्राइवेट अस्पतालों के 80% आईसीयू बेड कोरोना के लिए रिजर्व किए गए हैं. वहीं, प्राइवेट अस्पतालों में नॉन आईसीयू बेड, 50% से बढ़ाकर 60% बेड को रिजर्व किया जा रहा है.

केजरीवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में ये भी बताया कि सभी अस्पतालों से नॉन-क्रिटिकल और प्लान्ड सर्जरी को पोस्टपोन करने के लिए कहा गया है.

मेडिकल स्टाफ को कहा शुक्रिया

अरविंद केजरीवाल ने कोरोना के बढ़ते मामलों को अच्छे से हैंडल करने के लिए मेडिकल स्टाफ का भी शुक्रिया कहा. न्यूयॉर्क और स्वीडन के अस्पतालों के उदाहरण देते हुए केजरीवाल ने कहा, “दिल्ली में पिछले हफ्ते साढ़े 8 हजार तक केस पहुंचे, लेकिन मेडिकल स्टाफ ने शानदार मैनेजमेंट किया.”

छठ मनाएं, लेकिन घर पर

केजरीवाल ने कहा कि हम चाहते हैं सभी अच्छे से छठ मनाएं लेकिन सोचिए अगर 200 लोग एक साथ तालाब में उतरेंगे तो एक को भी कोरोना हुआ तो सब संक्रमण में आ जाएंगे. उन्होंने कहा, “छठ करने की मनाही नहीं है, लेकिन किसी भी पब्लिक वॉटर बॉडी में छठ पूजा नहीं मना सकते, इस बार छठ अपने घरों में मनाते हैं.”

Published: 
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!