विराट से साइना तक, खिलाड़ियों ने ISRO को कहा-हौसले अब भी बुलंद हैं
इसरो के चेयरमैन के सिवन अपने वैज्ञानिकों की टीम के साथ
इसरो के चेयरमैन के सिवन अपने वैज्ञानिकों की टीम के साथ(फोटो: PTI)

विराट से साइना तक, खिलाड़ियों ने ISRO को कहा-हौसले अब भी बुलंद हैं

खेल जगत ने लैंडर विक्रम से संपर्क टूटने के बावजूद भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के चंद्रमा की ओर बढ़ने के प्रयास के जज्बे को सलाम किया है. भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली से लेकर स्टार पहलवान सुशील कुमार और योगेश्वर दत्त ने भी इसरो को शुभकामनाएं दीं.

Loading...

शनिवार 7 सितंबर को सुबह करीब 2 बजे इसरो का चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम से संपर्क टूट गया था. इसरो के प्रमुख के सिवन ने इसकी जानकारी दी थी.

हालांकि इसके बावजूद मिशन का एक खास हिस्सा ऑर्बिटर सफलतापूर्वक चांद की कक्षा के चक्कर लगा रहा है. ये ऑर्बिटर अगले एक साल तक चांद के चक्कर लगाते हुए जरूरी तस्वीरें लेगा और इसरो को भेजेगा.

भले ही लैंडर को चांद की सतह पर उतारने में कामयाबी नहीं मिली, लेकिन देश भर से इसरो को उनके प्रयास के लिए खूब वाह-वाही मिली.

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ट्वीट कर लिखा कि विज्ञान में नाकामी जैसी कोई चीज नहीं है.

पूर्व सलामी बल्लेबाज और सांसद गौतम गंभीर ने ट्विटर पर लिखा,

“ये तब ही एक नाकामयाबी होगी, यदि हम इससे सीखे नहीं. हम मजबूती से वापसी करेंगे. मैं इसरो की टीम के जज्बे को सलाम करता हूं, जिन्होंने करोड़ों भारतीयों की उम्मीदों को एक किया. अभी उनका सर्वश्रेष्ठ आना बाकी है.”

वीरेंद्र सहवाग ने लिखा, "ख्वाब अधूरा रहा पर हौसले जिंदा हैं, इसरो वो है, जहां मुश्किलें शर्मिदा हैं. हम होंगे कामयाब."

ये भी पढ़ें : ISRO के सिवन भी नौकरी करते हैं,लेकिन काम पूरा न हो तो रो पड़ते हैं

शिखर धवन ने कहा, "टीम इसरो, आपकी कड़ी मेहनत के लिए हमें आप पर गर्व है. आप हारे नहीं हैं, हमें और करीब ले गए हैं. इस उम्मीद को जिंदा रखें."

महिला पहलवान गीता फोगाट ने लिखा, "लहरों से डर कर नौका पार नहीं होती, कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती. पूरे भारत वर्ष को इसरो पर गर्व है."

स्टार पहलवान योगेश्वर दत्त ने लिखा, "हमें गर्व है अपने वैज्ञानिकों पर और यकीन है की अगले प्रयास में सफलता जरूर मिलेगी. जय हिंद, जय भारत."

दो बार के ओलंपिक मेडलिस्ट पहलवान सुशील कुमार ने लिखा, “ बस सम्पर्क टूटा है.. हौसले अब भी बुलंद हैं.. सारा देश isro के साथ है.. भविष्य में सफलता ज़रूर मिलेगी.. हमें अपने वैज्ञानिकों पर गर्व है.. जय हिंद.”

देश की बैडमिंटन स्टार साइना नेहवाल ने लिखा कि भारत को इसरो पर गर्व है.

सफलता के अत्यंत करीब जाकर शनिवार को चंद्रयान 2 के अंतिम चरण में लैंडर विक्रम चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर अपने निर्धारित लैंडिंग स्थान से केवल 2.1 किलोमीटर की ऊंचाफ पर था तभी उसका संपर्क टूट गया.

ये भी पढ़ें : चंद्रयान 2- पाकिस्तान ने उड़ाया मजाक, अब भारतीय ऐसे दे रहे जवाब

ये भी पढ़ें : चंद्रयान-2 को लगा झटका,लेकिन विदेशी मीडिया ने भी की ISRO की तारीफ 

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Follow our भारत section for more stories.

    Loading...