ADVERTISEMENTREMOVE AD

छत्तीसगढ़ः मोबाइल के लिए डैम से बहाया 21 लाख लीटर पानी, फूड इंस्पेक्टर सस्पेंड

Chhattisgarh: फूड इंस्पेक्टर राजेश विश्वास ने फोन ढूंढने के लिए 4 दिनों तक लगातार 30 HP के पंप से पानी निकाला.

Published
भारत
3 min read
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा
Hindi Female

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के कांकेर (Kanker) जिले के खेरकट्टा परलकोट जलाशय में गिरा मोबाइल निकालने के लिए 21 लाख लीटर से ज्यादा पानी बहाने के मामले में आरोपी फूड इंस्पेक्टर राजेश विश्वास (Rajesh Vishwas) को सस्पेंड कर दिया गया है. यह आदेश जिला कलेक्टर कार्यालय बस्तर द्वारा जारी किया गया है. दरअसल, खाद्य निरीक्षक राजेश विश्वास ने अपने मोबाइल को ढूंढने के लिए चार दिनों तक पंप लगाकर डैम का पानी खाली कराया था.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

सेल्फी लेने के दौरान रलकोट जलाशय में जा गिरा मोबाइल

कोयलीबेड़ा ब्लॉक में पोस्टेड फूड इंस्पेक्टर राजेश विश्वास 21 मई, 2023 को दोस्तों के साथ खेरकट्टा परलकोट जलाशय गए थे. सेल्फी लेनेे के दौरान लापरवाही के चलते स्केल वाय के पास अधिकारी का 96 हजार रुपए का मोबाइल पानी में जा गिरा. जलाशय से अधिकारी मोबाइल निकालने की कोशिश की, लेकिन 15 फिट तक पानी होने के कारण मोबाइल नहीं निकला. जिसके बाद अधिकारी मोबाइल ढूंढने के लिए पानी को कम करने में लग गए और 4 दिनों तक लगातार 30 HP के पंप से पानी निकाला. जिसके बाद गुरुवार को फूड इंस्पेक्टर राजेश विश्वास का मोबाइल पानी से बाहर निकला.

Chhattisgarh: फूड इंस्पेक्टर राजेश विश्वास ने फोन ढूंढने के लिए  4 दिनों तक लगातार 30 HP के पंप से पानी निकाला.

सेल्फी लेनेे के दौरान जलाशय में जा गिरा मोबाइल.

(फोटोः क्विंट हिंदी)

इस बात की जानकारी जब सिंचाई अफसर को मिला तो अधिकारी हरकत में आए और मौके पर जाकर पंप को बंद करवाया. हालांकि तब तक 21 लाख लीटर से ज्यादा पानी बह चुका था. जिसके बाद जिला कलेक्टर कार्यालय बस्तर ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए फूड इंस्पेक्टर राजेश विश्वास को सस्पेंड कर दिया गया है.

Chhattisgarh: फूड इंस्पेक्टर राजेश विश्वास ने फोन ढूंढने के लिए  4 दिनों तक लगातार 30 HP के पंप से पानी निकाला.

30 HP के पंप से निकाला गया पानी.

(फोटोः क्विंट हिंदी)

जिला कलेक्टर कार्यालय बस्तर ने आदेश जारी कर कहा कि- 'राजेश विश्वास खाद्य निरीक्षक पखांजूर द्वारा अपना मोबाईल ढूंढने के लिए अपने पद का दुरुप्रयोग करते हुए सक्षम अधिकारी की अनुमति बिना परलकोट जलाशय से भीषण गर्मी में लाखों लीटर पानी व्यर्थ बहा देना, उनके अशोभनीय आचरण का द्योतक, जो अस्वीकार्य है. इसलिए उन्हे तत्काल प्रभाव से निलंबित किया जाता है.'
Chhattisgarh: फूड इंस्पेक्टर राजेश विश्वास ने फोन ढूंढने के लिए  4 दिनों तक लगातार 30 HP के पंप से पानी निकाला.

जिला कलेक्टर कार्यालय बस्तर का आदेश.

(फोटोः स्क्रीनशॉट)

हालांकि इस संबंध में फूड इंस्पेक्टर राजेश विश्वास ने कहा कि-

परलकोट जलाशय के ओवरफ्लो पानी टैंक होता है जहां सोमवार को मेरा फोन गिर गया था. अभी मेरा फोन मिल गया है. दरअसल, सेल्फी लेते वक्त फोन हाथ से फिसल कर जलाशय में गिर गया था. गोताखोर लोग कोशिश कर रहे थे, लेकिन अंदर पत्थर था तो नहीं मिल रहा था. जल संसाधन के एसडीओ साहब से मैंने बात किया तो उन्होंने बताया कि यह पानी यूज नहीं होता. उनके आदेश के बाद 3 फीट पानी को बाहर निकाला गया.
राजेश विश्वास, फूड इंस्पेक्टर

राजेश विश्वास ने आगे कहा कि सैमसंग कंपनी का S सीरीज का फोन था, जिसकी कीमत लगभग 96 हजार रुपए था.

Chhattisgarh: फूड इंस्पेक्टर राजेश विश्वास ने फोन ढूंढने के लिए  4 दिनों तक लगातार 30 HP के पंप से पानी निकाला.

जलाशय से 21 लाख लीटर पानी निकाला गया.

(फोटोः क्विंट हिंदी)

हालांकि इस मामले में जल संसाधन विभाग के अनुविभागीय अधिकारी राम लाल धीवर ने कहा कि, 'नियमानुसार 5 फीट तक पानी को खाली करने का परमिशन मौखिक तौर पर दी गई थी, लेकिन 10 फीट से ज्यादा पानी निकाल दिया गया. हमने जब उनसे संपर्क साधने की कोशिश की तो उन्होंने हमारा फोन रिसीव नहीं किया.'

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

0
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×