ADVERTISEMENT

TMC पर सोनिया गांधी का स्टैंड, बाहर भले हो झगड़ा, संसद के अंदर बना रहे भाईचारा

हाल ही में टीएमसी ने कांग्रेस के कई बड़े नेताओं को तोड़कर पार्टी नें शामिल कराया है.

Published
भारत
2 min read
<div class="paragraphs"><p> मल्लिकार्जुन खड़गे और गुलाम नबी आजाद से बात करतीं कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी </p></div>
i

कांग्रेस (Congress) और टीएमसी (TMC) ने शुक्रवार 26 नवंबर को संसद परिसर में होने वाले संविधान दिवस कार्यक्रम के बहिष्कार का ऐलान किया है. उधर सोनिया गांधी ने पार्टी नेताओं को संकेत दिया है कि बाहरी घटनाक्रमों की वजह से संसद के अंदर विपक्षी एकता कमजोर नहीं होनी चाहिए. सोनिया का इशारा टीएमसी के द्वारा कांग्रेस तोड़े जाने की ओर था.

ADVERTISEMENT

राष्ट्रपति कार्यक्रम को करेंगे संबोधित

संसद के सेंट्रल हॉल में होने वाले संविधान दिवस कार्यक्रम को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद संबोधित करने वाले हैं. संविधान दिवस कार्यक्रम को लेकर कांग्रेस ने सहयोगी दलों से भी संपर्क किया है, इसलिए उम्मीद जताई जा रही है कि आरजेडी, डीएमके और लेफ्ट पार्टियां भी शायद कार्यक्रम में शामिल नहीं होंगी.

विपक्षी एकता पर कांग्रेस का जोर

कांग्रेस से लगातार नेताओं को तोड़ने के बाद भी सोनिया गांधी टीएमसी से रिश्ते खराब करने के मूड में नहीं दिख रही हैं. इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार गुरुवार को हुई पार्टी रणनीतिकारों की बैठक में जब टीएमसी का मुद्दा तो कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने संकेत दिए कि सदन के बाहर होने वाले घटनाक्रमों की वजह से संसद के अंदर विपक्षी एकता प्रभावित नहीं होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि कांग्रेस को सभी विपक्षी पार्टियों के साथ संपर्क करना चाहिए.

सोनिया का बयान ऐसे वक्त में काफी अहम माना जा रहा है जब टीएमसी अलग राज्यों से कांग्रेस नेताओं को तोड़ने में लगी है. 2 दिन पहले ही टीएमसी ने मेघायल में कांग्रेस कांग्रेस को जोरदार झटका देते हुए पूर्व सीएम मुकुल संगमा समेत 12 विधायकों को अपने खेमे में शामिल करा लिया.

ADVERTISEMENT

गुरुवार को हुई कांग्रेस की उच्चस्तरीय बैठक में इस बात को लेकर सभी नेताओं में सहमति दिखी कि संविधान दिवस कार्यक्रम का बहिष्कार होना चाहिए. इस साल संसद के संयुक्त सत्र में राष्ट्रपति के संबोधन का भी विपक्षी पार्टियों ने बहिष्कार किया था.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT