आर्मी डे:जिस सेना पर हमें गर्व है,उसके बारे में जानिए 10 खास बातें

भारतीय सेना के इतिहास और उसके गौरव से जुड़ी बातें

Updated15 Jan 2020, 02:46 AM IST
भारत
2 min read

देश 15 जनवरी को 72वां आर्मी डे मना रहा है. हर भारतीय को सेना पर भरोसा और गर्व है. क्योंकि जब देश का हर नागरिक चैन की नींद सोता है, सेना देश की रक्षा के लिए चौकन्ने और सतर्क रहते हैं.भारतीय सेना के इसी जज्बे को सलाम करते हुए जानते हैं 10 बड़ी बातें.

  1. 15 जनवरी, 1949 में सेना के पहले भारतीय कमांडर इन चीफ के तौर पर जनरल (बाद में फील्ड मार्शल) के.एम.करियप्पा ने कमान संभाला था. इसी मौके को आर्मी डे के तौर पर मनाया जाता है.
  2. के एम करियप्पा के पहले भारतीय सेना के अंतिम ब्रिटिश कमांडर इन चीफ जनरल सर फ्रांसिस बुचर थे.
  3. भारतीय सेना के इतिहास में अबतक सिर्फ सैम मानेकशॉ और के एम करियप्पा ही ऐसे अधिकारी हैं जिन्हें फील्ड मार्शल की रैंक दी गई है. ये सेना का सर्वोच्च ओहदा है.
  4. भारतीय सेना दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी सेना है. सेना के पास करीब 11 लाख एक्टिव ट्रूप हैं साथ ही 9.5 लाख के करीब रिजर्व ट्रूप हैं.
  5. समुद्र तल से 5 हजार मीटर ऊंचे सियाचिन ग्लेशियर पर जवानों की तैनाती होती है. ये दुनिया की सबसे ऊंची बैटल फील्ड है.
  6. 1835 में स्थापित हुआ असम राइफल्स, भारत का सबसे पुराना पैरामिलिट्री फोर्स है.
  7. भारतीय सेना का सबसे बड़ा सम्मान है परमवीर चक्र. पहली बार ये सम्मान मेजर सोमनाथ शर्मा को दिया गया था. आजादी के तुरंत बाद ही 3 नवंबर 1947 को मेजर सोमनाथ शहीद हुए थे. अबतक 21 बार ये सम्मान दिया गया है, जिसमें 20 बार आर्मी के जवानों को ये अवॉर्ड मिला है.
  8. बांग्लादेश को आजादी दिलाने के युद्ध में भारत ने पाकिस्तान के करीब 93 हजार सैनिकों को आत्मसमर्पण कराया था. ये दुनिया के सबसे बड़े सैन्य आत्मसमर्पण में से एक है.
  9. भारतीय सेना का आदर्श वाक्य 'Service Before Self' है. इसी तर्ज पर भारत के पास दुनिया की सबसे बड़ी वॉलेंटियर आर्मी है.
  10. प्राकृतिक आपदा के वक्त सेना देश में रक्षक बनकर उतरती है. उत्तराखंड बाढ़ के वक्त आर्मी का 'ऑपरेशन राहत' सबसे बड़े राहत ऑपरेशन में से एक है. सिर्फ देश में ही नहीं यूनाइटेड नेशन के दुनियाभर में चलने वाले शांति अभियानों में इंडियन आर्मी सबसे आगे रहती है. सियेरा लियोन में चलाए गए 'ऑपरेशन खुकरी' को आज भी दुनिया सलाम करती है.

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 15 Jan 2018, 11:13 AM IST
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!