ADVERTISEMENTREMOVE AD

शरद पवार ही रहेंगे NCP अध्यक्ष: संगठन में बदलाव के दिये संकेत, बताई फैसले की वजह

Sharad Pawar ने 2 मई को एनसीपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था.

Published
भारत
2 min read
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा
Hindi Female

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और NCP नेता शरद पवार (Sharad Pawar) ने आखिरकार तीन दिन बाद अपना इस्तीफा वापस ले लिया. उन्होंने शुक्रवार (5 मई) को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा, "कार्यकर्ताओं की भावनाओं का सम्मान करते हुए, मैं अपना फैसला वापस ले रहा हूं."

ADVERTISEMENTREMOVE AD

शरद पवार ने क्या कहा, 5 प्वाइंट में जानें?

  • 2 मई, 2023 को अपनी आत्मकथात्मक पुस्तक 'लोक भूलभुलैया संगति' के विमोचन के अवसर पर मैंने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष पद से सेवानिवृत्त होने के निर्णय की घोषणा की. सार्वजनिक जीवन में 63 साल की लंबी सेवा के बाद पद छोड़ने का फैसला मेरा खुद का था.

  • मेरे फैसले ने लोगों के बीच मजबूत भावनाएं पैदा कीं. मेरा फैसला सुनकर पार्टी कार्यकर्ता, पदाधिकारी और मेरे सहयोगी मायूस हो गए. मेरे सभी शुभचिंतकों ने एक स्वर से मुझसे अपने फैसले पर पुनर्विचार करने की अपील की. उसी समय, विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं, मेरे सहयोगियों और पूरे देश और विशेष रूप से महाराष्ट्र के शुभचिंतकों ने मुझे अपना निर्णय बदलने के लिए राजी किया.

  • 'लोक भूलभुलैया संगति' अर्थात् प्रजा मेरी साथी है! और यही मेरे लंबे और संतोषजनक सार्वजनिक जीवन का असली रहस्य है. मैं उनकी भावनाओं का अपमान नहीं कर सकता. मुझ पर बरसाए गए प्यार और विश्वास से मैं अभिभूत हूं. आप सभी की अपील को ध्यान में रखते हुए और पार्टी द्वारा गठित समिति के निर्णय का सम्मान करते हुए, मैं सेवानिवृत्त होने का अपना निर्णय वापस ले रहा हूं.

  • भले ही, मैं अध्यक्ष के पद पर बना हुआ हूं, मेरा स्पष्ट मत है कि संगठन में किसी भी पद या जिम्मेदारी के लिए एक उत्तराधिकार योजना होनी चाहिए. भविष्य में मैं पार्टी में सांगठनिक बदलाव करने, नई जिम्मेदारियां सौंपने, नया नेतृत्व तैयार करने पर ध्यान दूंगा. मैं संगठन के विकास के लिए भी पूरी ताकत से काम करूंगा और हमारी विचारधारा और पार्टी के लक्ष्यों को लोगों तक पहुंचाऊंगा.

0
  • आपका निरंतर समर्थन मेरे लिए एक वास्तविक प्रेरणा रहा है. मैं हमेशा आपका आभारी रहूंगा, जो सफलताओं और मेरे जीवन की सभी चुनौतियों के दौरान मेरे साथ खड़े रहे. मैं दोहराता हूं कि मैं पार्टी अध्यक्ष के रूप में जिम्मेदारी जारी रखना स्वीकार करता हूं. धन्यवाद!

बता दें कि 1999 में एनसीपी का गठन करने के बाद से शरद पवार लगातार 24 साल तक पार्टी के अध्यक्ष थे. लेकिन 2 मई को उन्होंने अपनी किताब के विमोचन कार्यक्रम में एनसीपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×