ADVERTISEMENTREMOVE AD

लोकसभा चुनाव: AAP ने दिल्ली-हरियाणा में पत्ता खोला- 3 मौजूदा विधायकों पर दांव कितना कारगर?

AAP Delhi-Haryana candidates List: अरविंद केजरीवाल की अगुवाई वाली पार्टी दिल्ली की 4 सीटों जबकि हरियाणा की एक सीट पर चुनाव लड़ेगी.

Published
छोटा
मध्यम
बड़ा

AAP Delhi-Haryana candidates List: आम आदमी पार्टी ने लोकसभा चुनावों के लिए दिल्ली और हरियाणा के अपने उम्मीदवारों के नामों की घोषणा कर दी है. अरविंद केजरीवाल की अगुवाई वाली पार्टी दिल्ली की 4 सीटों जबकि हरियाणा की एक सीट पर चुनाव लड़ेगी.

खास बात है कि दिल्ली में AAP के 4 उम्मीदवारों में से 3 मौजूदा विधायक हैं. वहीं हरियाणा की एक सीट, कुरूक्षेत्र से पार्टी ने अपने प्रदेश अध्यक्ष को मैदान में उतारा है. चलिए सबसे पहले आपको पूरी लिस्ट बताते हैं:

ADVERTISEMENTREMOVE AD

दिल्ली

  • कुलदीप कुमार पूर्वी दिल्ली से चुनाव लड़ेंगे

  • सोमनाथ भारती नई दिल्ली से चुनाव लड़ेंगे

  • सहीराम पहलवान दक्षिणी दिल्ली से चुनाव लड़ेंगे

  • महाबल मिश्रा पश्चिमी दिल्ली से चुनाव लड़ेंगे

हरियाणा

  • सुशील गुप्ता कुरूक्षेत्र से चुनाव लड़ेंगे

वर्तमान में दिल्ली जल बोर्ड के उपाध्यक्ष और मालवीय नगर से विधायक सोमनाथ भारती AAP की स्थापना के समय से ही उससे जुड़े हुए हैं. जब पार्टी ने पहली बार दिल्ली में अपनी सरकार बनाई थी तो उनके पास एक विभाग भी था. पार्टी ने सोमनाथ भारती को नई दिल्ली से खड़ा किया है. यहां से अभी बीजेपी कीं मीनाक्षी लेखी सांसद हैं.

वहीं महाबल मिश्रा 2022 में पार्टी में शामिल हुए थे. वे पश्चिमी दिल्ली से पूर्व सांसद हैं और कांग्रेस में रहते हुए तीन बार दिल्ली विधानसभा के लिए विधायक चुने गए थे.

कोंडली से मौजूदा विधायक कुलदीप कुमार को पार्टी ने पूर्वी दिल्ली से उम्मीदवार बनाया है. इस सीट से वर्तमान में बीजेपी नेता और पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर सांसद हैं.

AAP ने दक्षिणी दिल्ली सीट से तुगलकाबाद के विधायक सहीराम पहलवान को मैदान में उतारा है. इस निर्वाचन क्षेत्र से वर्तमान में बीजेपी के रमेश बिधूड़ी सांसद हैं.

AAP-कांग्रेस के बीच क्या है डील?

बता दें कि INDIA अलायंस में सीट डील के तहत दिल्ली में AAP के 4 जबकि कांग्रेस के 3 उम्मीदवार खड़े होंगे. वहीं हरियाणा की 10 लोकसभा सीटों में से कांग्रेस 9 पर चुनाव लड़ेगी, जबकि AAP 1 सीट पर चुनाव लड़ेगी.

गुजरात की 26 लोकसभा सीटें में से कांग्रेस 24 पर चुनाव लड़ेगी, वहीं 2 सीटों- भरूच और भावनगर में AAP ताल ठोकेगी. वहीं गोवा की दोनों लोकसभा सीटों पर कांग्रेस चुनाव लड़ेगी.

हालांकि पंजाब में AAP अकेले चुनाव लड़ने जा रही है. यहां कांग्रेस के साथ उसका गठबंधन नहीं है.

गौरतलब है कि AAP ने पहले ही असम के लिए अपने तीन और गुजरात के लिए दो उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है.

दिल्ली का रण कितना मुश्किल?

ऐसे में जब AAP ने दिल्ली में अपने चारों उम्मीदवारों के नामों की घोषणा कर दी है, हम आपको यह बताते हैं कि यहां मुकाबला कितना कड़ा है. पिछले यानी 2019 लोकसभा चुनाव की बात करें तो दिल्ली की सभी 7 सीटों पर BJP ने कब्जा जमाया था. कांग्रेस 5 सीटों पर दूसरे नंबर की पार्टी रही थी तो वहीं 2 सीटों पर आम आदमी पार्टी दूसरी बड़ी पार्टी बनी थी.

अगर वोट परसेंट की बात करें तो 2019 के लोकसभा चुनावों में दिल्ली के अंदर बीजेपी का वोट परसेंट 56.90% था. दूसरी तरफ कांग्रेस का वोट परसेंट 22.60% और AAP का 18.20% था.

यानी यह आंकड़ा बताता है कि कांग्रेस और AAP के पिछले चुनाव के वोट परसेंट को जोड़ भी दे तो बीजेपी यहां पूरी तरह हावी थी. बीजेपी का वोट शेयर दोनों पार्टियों के कुल वोट शेयर से 16.1 फीसदी ज्यादा था.

हालांकि क्विंट हिंदी से बात करते हुए वरिष्ठ पत्रकार प्रेम कुमार ने कहा है कि, "कांग्रेस और AAP के बीच गठबंधन की तुलना पिछले बार के चुनाव के नतीजों से नहीं की जा सकती है. ये एक ऐसा गठबंधन है जो अप्रत्याशित परिणाम दे सकते हैं."

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

0
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें