ADVERTISEMENTREMOVE AD

जयंत का 'दिल जीता', मायावती बोलीं स्वागत लेकिन दलितों का तिरस्कार.. भारतरत्न पर किसने क्या कहा?

BSP सुप्रीमो मायावती ने कहा: दलितों के मसीहा कांशीराम जी का संघर्ष कोई कम नहीं. उन्हें भी भारतरत्न से सम्मानित किया जाए

Published
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा
Hindi Female

केंद्र सरकार ने शुक्रवार, 9 फरवरी को पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह (Chaudhary Charan Singh) और नरसिम्हा राव (Narsimha Rao) तथा वैज्ञानिक एमएस स्वामीनाथन (MS Swaminatham) को भारत रत्न (Bharat Ratna) देने का ऐलान किया है. सरकार के इस ऐलान के बाद अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav), जयंत चौधरी (Jayant Chaudhary), मायावती (Mayawati) ने खुशी जाहिर की है और नई मांग भी खड़ी कर दी है.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

आरएलडी प्रमुख जयंत चौधरी के दादा और पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह को भारत रत्न देने की घोषणा पर मिठाइयां बांटीं. उन्होंने कहा कि, ये बहुत बड़ा दिन है. मेरे लिए भावुक और यादगार पल है. मैं राष्ट्रपति, भारत सरकार और विशेषकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद देता हूं. इससे बहुत बड़ा संदेश पूरे देश में गया है. देश की भावनाएं सरकार के इस फैसले से जुड़ी हैं. मोदी जी ने साबित किया है कि वे देश की मूलभावना को समझते हैं...जो आजतक पूर्व की सरकार नहीं कर पाई वे फैसला नरेंद्र मोदी ने लिया है."

खास बात रही कि एनडीए में शामिल होने की बात पर जयंत चौधरी ने कहा, "क्या अब कोई कसर रह गई है. आज मैं किस मुंह से इंकार करूं."

वहीं समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि, किसानों के हितैषी पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह जी, पूर्व प्रधानमंत्री श्री नरसिम्हा राव जी और हरित क्रांति के जनक डॉक्टर एमएस स्वामीनाथन जी का भारत रत्न से सम्मानित किया जाना, बहुत समय से लंबित मांग की पूर्ति है. सच्चा सम्मान किसी भी व्यक्ति के सिद्धांतों और संघर्षों को मान देने से होता है, आशा है ऐसा ही होगा.
0

मायावती ने रखी मांग

बीएसपी प्रमुख मायावती ने बीजेपी सरकार द्वारा भारत रत्न की घोषणा का स्वागत किया है लेकिन साथ ही नई मांग भी कर दी है.

उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि, "वर्तमान बीजेपी सरकार द्वारा जिन भी हस्तियों को भारतरत्न से सम्मानित किया गया है उसका स्वागत है, लेकिन इस मामले में खासकर दलित हस्तियों का तिरस्कार एवं उपेक्षा करना कतई उचित नहीं. सरकार इस ओर भी जरूर ध्यान दे."

उन्होंने आगे ट्वीट कर कहा कि, "बाबा साहेब डा भीमराव अम्बेडकर को लम्बे इंतजार के बाद श्री वीपी सिंह जी की सरकार द्वारा भारत रत्न की उपाधि से सम्मानित किया गया. उसके बाद दलित व उपेक्षितों के मसीहा मान्यवर श्री कांशीराम जी का इनके हितों में किया गया संघर्ष कोई कम नहीं. उन्हें भी भारतरत्न से सम्मानित किया जाए."

ADVERTISEMENTREMOVE AD

अमित शाह और राजनाथ सिंह ने किया पीएम का धन्यवाद

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रति आभार जताया, उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि, "पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह जी को ‘भारत रत्न’ से सम्मानित किये जाने की घोषणा से अत्यंत प्रसन्नता हुई. आजीवन किसानों के लिए समर्पित चौधरी साहब ने किसान कल्याण के लिए अनेक कार्य किए हैं. चौधरी साहब जीवनपर्यंत लोकतांत्रिक मूल्यों के संरक्षण के प्रति समर्पित रहे और उन्होंने आपातकाल का डटकर मुकाबला किया. उन्होंने अपने निर्णयों से पूरे देश को यह बताया कि किसान का बेटा देश के भरण-पोषण से लेकर नीतिगत निर्णय भी ले सकता है. चौधरी साहब के सम्मान के माध्यम से देश के करोड़ों किसानों और मेहनतकश लोगों को सम्मानित करने के लिए मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी का आभार व्यक्त करता हूं."

शाह ने भारतीय अर्थव्यवस्था को सबसे मुश्किल दौर से बाहर निकालने वाले देश के पूर्व प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव को भारत रत्न सम्मान देने को एक महान राजनेता को सच्ची श्रद्धांजलि और देश को खाद्य संकट के युग से निकालकर खाद्य सुरक्षा की ओर ले जाने का कठिन कार्य करने वाले दुर्लभ प्रतिभा डॉ एमएस स्वामीनाथन को भी भारत रत्न से सम्मानित करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रति आभार व्यक्त करते हुए धन्यवाद कहा है.

दूसरी तरफ रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि इन्हें पहले ही भारत रत्न से सम्मानित किया जाना चाहिए था. लेकिन, मोदी सरकार, देश की पहली सरकार है, जिसने इसका संज्ञान लेते हुए इन्हें सम्मानित किया है.

"सच्चाई यह है कि इनको (चौधरी चरण सिंह, पीवी नरसिम्हा राव और एमएस स्वामीनाथन) तो पहले ही नवाजा जाना (भारत रत्न) चाहिए था, लेकिन इसका संज्ञान पहली बार किसी सरकार ने लिया है तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में हमारी सरकार ने लिया है."
राजनाथ सिंह, रक्षा मंत्री

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि दलगत राजनीति से ऊपर उठकर ही मोदी सरकार इस तरह के फैसले करती है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें